अयोध्या में होगी तीन मुल्कों की अवध-मिथिला समिट, योगी सरकार बदलेगी तस्वीर

इस समिट का दायरा अंतरराष्ट्रीय होगा। इसमें श्रीलंका और नेपाल के विशेषज्ञ शामिल होंगे। बिहार के उपमुख्यमंत्री और संस्कृति मंत्री भी यहां पहुचेंगे। यूपी का संस्कृति विभाग इस अवध-मिथिला समिट का आयोजन करेगा। 14 दिसंबर को को विधानसभा अध्यक्ष  हृदय नारायण दीक्षित समिट का उदघाटन करेंगे।

Written by: December 9, 2019 12:45 pm

नई दिल्ली। अयोध्या में ऐतिहासिक समिट का आयोजन किया जा रहा है। इस समिति का नाम अवध मिथिला समिट रखा गया है। यह आयोजन 14 व 15 दिसंबर को होगा। इसमे अयोध्या के ऐतिहासिक, सांस्कृतिक व पारंपरिक तथ्यों के सहारे रामनगरी के विकास का खाका खींचा जाएगा।

cm yogi adityanath

इस समिट का दायरा अंतरराष्ट्रीय होगा। इसमें श्रीलंका और नेपाल के विशेषज्ञ शामिल होंगे। बिहार के उपमुख्यमंत्री और संस्कृति मंत्री भी यहां पहुचेंगे। यूपी का संस्कृति विभाग इस अवध-मिथिला समिट का आयोजन करेगा। 14 दिसंबर को को विधानसभा अध्यक्ष  हृदय नारायण दीक्षित समिट का उदघाटन करेंगे। इस दौरान उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी मौजूद होंगे।

CM yogi Keshav Prasad Maurya

योगी आदित्यनाथ सरकार अयेाध्या को अंतरराष्‍ट्रीय स्तर की पर्यटन नगरी के तौर पर विकसित करने की बड़ी योजना बना रही है। इससे आने वाले समय में पर्यटकों की संख्या बढ़ने की उम्मीद है। यूपी सरकार ने पहले ही ऐलान किया है कि वह धार्मिक नगरी अयोध्या में भगवान राम की विशालकाय मूर्ति स्थापित करेगी।

UP CM Yogi Adityanath

भगवान राम की मूर्ति 151 मीटर ऊंची होगी। मूर्ति के ऊपर 20 मीटर उंचा छत्र एवं नीचे कुल 50 मीटर का आधार होगा। अयोध्या के पूरे विकास के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने 447.46 करोड़ रुपये का बजट मंजूर किया था। योगी सरकार की योजनाओं में पर्यटन विकास, अयोध्या के सुंदरीकरण, डिजिटल म्यूजियम, इंटरप्रिटेशन सेंटर, लाइब्रेरी, पार्किंग, फूड प्लाजा, लैंडस्कैपिंग और दूसरी पर्यटन की सुविधाओं के लिए किया जाएगा।