जमीन हड़पने के आरोप के बाद अब नई मुसीबत में फंसे आजम खान

अब आजम खान एक नई मुसीबत में फंसते दिख रहे हैं और ये मामला है यूनिवर्सिटी को लीज पर दी गई जमीन से खैर के पेड़ गायब होने का।

Avatar Written by: August 23, 2019 7:19 pm

नई दिल्ली। पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के रामपुर में गरीब और कमजोर लोगों की जमीनों को हड़प कर जौहर यूनिवर्सिटी बनाने वाले समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान बुरी तरह से फंस गए थे। उनके खिलाफ कई सारे केस भी दर्ज किए गए हैं। अब आजम खान एक नई मुसीबत में फंसते दिख रहे हैं और ये मामला है यूनिवर्सिटी को लीज पर दी गई जमीन से खैर के पेड़ गायब होने का।

Azam Khan Sad

लीज पर ली गई जमीन से पेड़ गायब होने के मामले में एडीएम प्रशासन जगदंबा प्रसाद गुप्ता ने बताया कि ये मामला गाटा संख्या 1252 और 1418 नंबर की जमीन का है। ये जमीन जौहर यूनिवर्सिटी को लीज पर दी गई थी।

बताया जा रहा है कि आजम खान को जौहर ट्रस्ट को यूनिवर्सिटी के लिए जो जमीन लीज पर दी गई थी उस समय 21 फरवरी 2007 में खैर के पेड़ थे, लेकिन अब जिला प्रशासन ने जांच के बाद शासन को जो रिपोर्ट भेजी है, उसके अनुसार लीज पर दी गई जमीन पर खैर के पेड़ नहीं है। 4 जून 2019 की एसडीएम सदर की जांच रिपोर्ट के अनुसार वहां से पेड़ गायब हैं जिसके अनुसार यह शासन के नियमों का उल्लंघन है।

बता दें कि जौहर विश्व विद्यालय का मामला अभी ठंडा नहीं हो पाया था कि उनके हमसफर रिसॉर्ट की दीवार पर बुलडोजर चला दिया गया था। रिसॉर्ट की जिस दीवार को तोड़ा गया, उसे लेकर सिंचाई विभाग ने पहले ही सांसद आजम खान को नोटिस जारी कर दिया था। यह रिसॉर्ट उनके बेटे अब्दुल्ला के नाम पर था।

azam khan abdulla khan

सिंचाई विभाग ने आरोप लगाया था कि रिसॉर्ट की यह दीवार सिंचाई विभाग की जमीन पर बना है। आजम खान को नोटिस देने के बाद भी इस पर कोई कदम नहीं उठाया गया, इसीलिए यह कदम उठाना पड़ा।