बांग्लादेश के विदेश मंत्री ने रद्द किया भारत दौरा, बताई ये वजह

बांग्लादेशी विदेश मंत्री ने कहा था कि भारत के अंदर ही काफी दिक्कतें हैं, पहले उन्हें उनसे निपटना चाहिए। हमें उससे कोई परेशानी नहीं है लेकिन एक दोस्त देश होने के नाते हम इतना चाहते हैं कि भारत ऐसा कुछ नहीं करेगा, जिससे दोनों देशों के संबंध में तकरार आएगी।

Written by: December 12, 2019 4:10 pm

नई दिल्ली। बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ. एके. अब्दुल मोमेन को दिल्ली में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेना था, लेकिन उन्होंने अपना ये दौरा रद्द कर दिया है। उन्होंने नागरिकता संशोधन बिल को लेकर भी अपनी तीखी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने अपनी बात में भारत के गृह मंत्री अमित शाह को बांग्लादेश के हालात देखने का भी आमंत्रण दे डाला।

AK Momin

इस वजह से किया दौरा रद्द

बता दें कि मोमेन को 12-14 दिसंबर के लिए इंडियन ऑशन डायलॉग, दिल्ली डायलॉग शामिल होने के लिए आना था, लेकिन उन्होंने ये दौरा रद्द कर दिया। यात्रा को रद्द करते हुए बांग्लादेशी विदेश मंत्री ने कहा कि मुझे दिल्ली कुछ कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए जाना था, लेकिन विदेश राज्य मंत्री और विदेश सचिव दोनों ही देश से बाहर हैं। इसलिए मुझे घर पर रहना पड़ रहा है, लेकिन मैं जनवरी में इस बैठक को जरूर अटेंड करुंगा। बांग्लादेशी विदेश मंत्री बोले कि उनकी जगह बांग्लादेशी DG भारत जाएंगे।

‘अमित शाह को कुछ दिन के लिए बांग्लादेश में आना चाहिए’

गुरुवार सुबह ही एके. अब्दुल मोमेन ने कहा था कि दुनिया में कुछ ही ऐसे देश हैं, जहां बांग्लादेश जैसा अच्छा सांप्रदायिक सौहार्द है। अमित शाह को कुछ दिन के लिए बांग्लादेश में आना चाहिए, तभी उन्हें बांग्लादेश के सांप्रदायिक सौहार्द का पता लगेगा।

AK Momin S Jaishankar

‘भारत के अंदर ही काफी दिक्कतें हैं, पहले उनसे निपटे’

इसके अलावा बांग्लादेशी विदेश मंत्री ने कहा था कि भारत के अंदर ही काफी दिक्कतें हैं, पहले उन्हें उनसे निपटना चाहिए। हमें उससे कोई परेशानी नहीं है लेकिन एक दोस्त देश होने के नाते हम इतना चाहते हैं कि भारत ऐसा कुछ नहीं करेगा, जिससे दोनों देशों के संबंध में तकरार आएगी।

Amit shah

गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन बिल में बांग्लादेश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान से आने वाले हिंदू, जैन, सिख, बौद्ध, पारसी, ईसाई शरणार्थियों को भारत की नागरिकता मिलना आसान हो जाएगा। असम समेत कई पूर्वोत्तर राज्यों में बांग्लादेश से आ रहे लोगों का वहां बसना एक बड़ी समस्या है।