अमित शाह का बड़ा ऐलान, अब हर CRPF जवान को साल में 100 दिन की मिलेगी छुट्टी

गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली में सीआरपीएफ (CRPF) के नए मुख्यालय की आधारशिला रखी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि उनकी सरकार सीआरपीएफ के जवानों का देश के लिए दिए गए योगदान को ध्यान में रखते हुए ऐसी योजना पर काम कर रही हैं जिसके तहत 1 जवान 1 साल में 100 दिन परिवार के साथ बिता सके।

Written by: December 29, 2019 6:13 pm

नई दिल्ली। गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली में सीआरपीएफ (CRPF) के नए मुख्यालय की आधारशिला रखी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि उनकी सरकार सीआरपीएफ के जवानों का देश के लिए दिए गए योगदान को ध्यान में रखते हुए ऐसी योजना पर काम कर रही हैं जिसके तहत 1 जवान 1 साल में 100 दिन  परिवार के साथ बिता सके।

amit shah on crpf

इसके साथ ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि अस्सी से नब्बे के दशक में देश के अंदर अनेक तरह की घटनाएं हुई। हमारे देश के लोगों को भ्रमित और गुमराह करके पड़ोसी देश ने हमारे देश में आतंकवाद फैलाया। सीआरपीएफ दुनिया का सबसे बहादुर सशस्त्र बल है। इतिहास को सीआरपीएफ के बहादुरी के किस्से को हमेशा स्थान देना होगा। 2181 जवानों ने बलिदान दिया है। अमित शाह ने सीआरपीएफ मुख्यालय के शिलान्यास के दौरान ये बात कही।

amit shah on crpf

गृह मंत्री ने कहा कि सीआरपीएफ के जवानों को होने वाली दिक्कतों से देश के प्रधानमंत्री और गृह मंत्री वाकिफ हैं। हम चाहते हैं कि हर जवान साल में अपने परिवार के साथ 100 बिताए।

amit shah on crpf

अमित शाह ने कहा कि 100 छुट्टी को लेकर हमने इसके लिए कमेटी बना दी है। कुछ संस्थाओं को मैंने सॉफ्टवेयर बनाने के लिए कहा है। अगले बजट में उसके लिए प्रावधान आएगा। जवान साल में 100 दिन अगर वह अपने परिवार के साथ रहता है तो वह अपनी जिम्मेदारियों का बेहतर निर्वहन कर पाएगा। सिर्फ जवानों का हेल्थ चेकअप होता है लेकिन अब जवानों के मां-बाप बच्चे और पत्नी का भी हेल्थ चेकअप होगा।

हवाई सफर का दिया तोहफा

amit shah on crpf
इसके साथ ही शाह कहा की  प्रधानमंत्री मोदी की सरकार ने सीआरपीएफ के जवानों को ड्यूटी के समय हवाई सफर की जो अनुमति दी है, उससे भी जवानों को मनोबल बढ़ा है। हम चाहते हैं कि जवानों को और सुविधा मिलें। इसके लिए हम एम्स के साथ काम करके जवानों को ऐसा हेल्थ कार्ड देने पर विचार कर रहे हैं जिससे उनके परिवार वालों का भी इलाज हो सके।