बीजेपी की सरकार ही लाई कश्मीर में इंटरनेट, बीजेपी ही ‘रिस्टोर’ करेगी, गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा बयान

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कश्मीर के मामले में आज बड़ा बयान दिया। उन्होंने कश्मीर में स्थितियां सामान्य होने के प्रमाण दिए। शाह ने साफ किया कि जम्मू-कश्मीर के हालात अब सामान्य हो गए हैं।

Written by: November 20, 2019 6:11 pm

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कश्मीर के मामले में आज बड़ा बयान दिया। उन्होंने कश्मीर में स्थितियां सामान्य होने के प्रमाण दिए। शाह ने साफ किया कि जम्मू-कश्मीर के हालात अब सामान्य हो गए हैं। 5 अगस्त को आर्टिकल 370 हटने के बाद से पुलिस फायरिंग में कश्मीर के किसी व्यक्ति की मौत नहीं हुई।

amit shah

एक बेहद अहम जानकारी देते हुए अमित शाह ने सदन को बताया कि घाटी में सही समय पर इंटरनेट सेवा शुरू कर दी जाएगी। अमित शाह ने घाटी में इंटरनेट सेवा की प्रक्रिया में बीजेपी के अहम योगदान का भी जिक्र किया।अमित शाह ने जानकारी दी कि पूरे देश में मोबाइल लगभग 1995-97 के आसपास आया और कश्मीर में मोबाइल 2003 में बीजेपी सरकार ने पहली बार शुरू किया।

Home Minister Amit Shah

यह तथ्य है कि सुरक्षा कारणों से कश्मीर में उस समय तक मोबाइल इंटरनेट की मंजूरी नहीं दी गई थी। अमित शाह ने इस तथ्य का भी जिक्र किया। उन्होंने बताया कि कश्मीर में इंटरनेट कई सालों तक रोका गया था। साल 2002 में वहां इंटरनेट की परमिशन दी गई। इस समय केंद्र में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार थी।

Home Minister Amit Shah

अमित शाह ने कहा कि जब देश की सुरक्षा, कश्मीर के नागरिकों की सुरक्षा का सवाल है और आतंकवाद से लड़ाई का सवाल है, तब कहीं न कहीं प्रायोरिटी तय करनी पड़ती है। जैसे ही वहां के प्रशासन को उचित लगेगा हम तुरंत इस पर पुन:विचार करेंगे।

Amit shah

अमित शाह ने आंकड़ों के ज़रिए कश्मीर के हालात की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि घाटी में 5 अगस्त के बाद किसी कि भी मौत पुलिस फायरिंग में नहीं हुई। इतना ही नहीं घाटी में पत्थरबाजी की घटना में भी कमी आई है। शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में 20 हजार 411 स्कूल खुले हैं और परीक्षाएं भी हो रही हैं। यहां 50 हजार 272 छात्रों ने परीक्षा दी है।