Connect with us

देश

BJP: भड़काऊ बयान देने वाले 38 नेताओं की BJP ने बनाई लिस्ट, जानिए कौन-कौन है शामिल

BJP: मिली जानकारी के मुताबिक, हालिया सियासी परिदृश्य के दृष्टिगत भड़काऊ बयान देने वाले 38 नेताओं की सूची सार्वजनिक की है। जिनमें से 27 नेताओं को कड़ी हिदायत दी गई है। इसके साथ ही पार्टी ने साफ कर दिया है कि कोई भी नेता बयान देने से पहले निर्देश लें।

Published

bjp 123

नई दिल्ली। नूपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद पर दिए बयान के बाद बीजेपी ने एक्शन लेते हुए उन्हें पार्टी से 6 साल के लिए निलंबित कर दिया। जिसके बाद सोशल मीडिया पर नूपुर शर्मा को लेकर घमासान मचा हुआ है। कुछ लोग पार्टी द्वारा नूपुर शर्मा के खिलाफ की कार्रवाई को सही ठहरा रहे है। वहीं कुछ लोग उनके समर्थन में दिख रहे है। इसी बीच अब भारतीय जनता पार्टी ने नूपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद पर दिए गए बयान के बाद एक्शन मोड में आ गई है। भाजपा अब अपने प्रवक्ताओं और पैनलिस्ट पर लगाम कसने की तैयारी कर ली है। खबरों के मुताबिक, पार्टी ने भड़काऊ बयान देने वाले 38 नेताओं की लिस्ट बनाई है। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सभी प्रवक्ताओं के साथ विवादित बयानों के चलते चर्चाओं में रहने वालों को नेताओं को भी पार्टी लाइन के विपरीत टिप्पणी न देने का फरमान जारी किया है।

PM Modi and nadda

मिली जानकारी के मुताबिक, हालिया सियासी परिदृश्य के दृष्टिगत भड़काऊ बयान देने वाले 38 नेताओं की सूची सार्वजनिक की है। जिनमें से 27 नेताओं को कड़ी हिदायत दी गई है। इसके साथ ही पार्टी ने साफ कर दिया है कि कोई भी नेता बयान देने से पहले निर्देश लें। बता दें कि भड़काऊ बयान देने वाले नेताओं में अनंत कुमार हेगड़े, गिरिराज सिंह, संगीत सोम, प्रताप सिन्हा, विनय कटियार, महेश शर्मा, टी राजा सिंह, विक्रम सैनी, साक्षी महाराज का नाम शामिल है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में भी भाजपा ने अपने प्रवक्ताओं से कानपुर हिंसा और नूपुर शर्मा के मसले पर कोई प्रतिक्रिया न देने की हिदायत दी है। इसके साथ भाजपा ने अपने प्रवक्ताओं से कहा है कि वे संवेदनशील मसले पर बोलते वक्त संयम बरतें कि किसी धर्म का अपमान न हो।

गौरतलब है कि एक टीवी डिबेट के दौरान नूपुर शर्मा ने ज्ञानवापी मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी थी। इस दौरान उन्होंने पैगंबर मोहम्मद को लेकर एक बयान दिया था। उनके इस बयान के बाद जमकर बवाल मचा हुआ है। विपक्षी दल भी इस मसले को लेकर भाजपा पर हमलावर है। नूपुर शर्मा के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और दूसरे धर्म के विरुद्ध कमेंट करने के आरोप में प्राथमिकी भी दर्ज की गई।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement