गांधी परिवार से SPG सुरक्षा हटाए जाने पर तिलमिलाई कांग्रेस

केंद्र की मोदी सरकार ने शुक्रवार को बड़ा फैसला लेते हुए गांधी परिवार से एसपीजी (स्पेशल प्रोटेक्शन फोर्स) सुरक्षा हटाने का फैसला लिया है। यानी अब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को एसपीजी सुरक्षा की जगह सीआरपीएफ की जेड प्लस सुरक्षा दी जाएगी।

Written by: November 8, 2019 4:56 pm

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार ने शुक्रवार को बड़ा फैसला लेते हुए गांधी परिवार से एसपीजी (स्पेशल प्रोटेक्शन फोर्स) सुरक्षा हटाने का फैसला लिया है। यानी अब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वांड्रा को एसपीजी सुरक्षा की जगह सीआरपीएफ की जेड प्लस सुरक्षा दी जाएगी। जानकारी के मुताबिक गृह मंत्रालय की सुरक्षा समीक्षा कमेटी की बैठक में यह निर्णय लिया गया है।

SPG security gandhi family

वहीं गांधी परिवार से एसपीजी सुरक्षा हटाए जाने पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने केंद्र की इस फैसले की निंदा की है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक द्वेष की वजह से ऐसा फैसला किया गया है। कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा कि भाजपा निजी तौर पर बदला लेने की राजनीति पर उतर आई है। इसके लिए वह दो पूर्व प्रधानमंत्रियों की सुरक्षा से समझौता कर रही है।

 अब सिर्फ प्रधानमंत्री के पास रहेगी SPG सुरक्षा

pm narendra modi

गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाने के फैसले के बाद अब सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास ही एसपीजी सुरक्षा रहेगी। वर्तमान में भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गांधी परिवार को ही एसपीजी की सुरक्षा प्राप्त थी।

जानिए SPG सुरक्षा और Z प्लस सुरक्षा में क्या है अंतर

SPG Commando

यह सुरक्षा का सबसे ऊंचा स्तर है। इस सुरक्षा में तैनात कमांडों के पास आधुनिक हथियार व उपकरण होते हैं। एसपीजी के बाद जेड प्लस भारत की सर्वोच्च सुरक्षा श्रेणी है। व्यक्ति की सुरक्षा में 36 जवान लगे होते हैं। इसमें 10 से ज्यादा एनएसजी कमांडो के साथ दिल्ली पुलिस, आईटीबीपी या सीआरपीएफ के कमांडो और राज्य के पुलिसकर्मी शामिल होते हैं।