दिल्ली HC से चिदंबरम को लगा झटका, मांगी थी जमानत लेकिन एम्स के डॉक्टरों ने खोल दी पोल!

आईएनएक्स मीडिया मामले में पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम को बड़ा झटका लगा है। चिदंबरम की स्वास्थ्य कारणों से मांगी गई जमानत अर्जी को शुक्रवार को हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है।

Written by: November 1, 2019 4:25 pm

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया मामले में पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम को बड़ा झटका लगा है। चिदंबरम की स्वास्थ्य कारणों से मांगी गई जमानत अर्जी को शुक्रवार को हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है। दरअसल चिदंबरम ने प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत को चुनौती देते हुए अंतरिम जमानत के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।

Former Finance Minister P Chidambaram

चिदंबरम ने स्वास्थ्य के आधार पर जमानत मांगी थी, जिस पर गुरुवार को हाईकोर्ट ने मेडिकल बोर्ड का गठन किया था। आज मेडिकल बोर्ड ने हाईकोर्ट के सामने अपनी रिपोर्ट पेश की।

AIIMS

रिपोर्ट के मुताबिक, चिदंबरम को अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत नहीं है। इस पर कोर्ट ने कहा कि जेल में ही डॉक्टर चिदंबरम का रेगुलर चेकअप करें। साथ ही मिनरल वाटर पीने को दिया जाए, मच्छरों से बचाने के लिए उन्हें लोशन दिया जाए।

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने दिल्ली हाईकोर्ट से कहा कि चिदंबबरम को अस्पताल में रहने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि उनका स्वास्थ्य बेहतर है। मेहता ने यह बात चिदंबरम के स्वास्थ्य की जांच के लिए गठित चिकित्सा दल द्वारा दाखिल की गई एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कही। मेडिकल रिपोर्ट पर सज्ञान लेते हुए न्यायमूर्ति सुरेश कुमार कैत ने जेल अधिकारियों को चिकित्सकों के सुझाव के अनुसार चिदंबरम को जेल में स्वच्छ वातावरण, घर पर बने खाने की अनुमति व मिनरल वाटर व दूसरी सुविधाएं प्रदान करने का निर्देश दिया।

CBI on chidambaram

एम्स मेडिकल बोर्ड ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि चिदंबरम को अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि उनके प्रमुख अंग सामान्य रूप से काम कर रहे हैं। इसके बाद कोर्ट ने चिदंबरम द्वारा स्वास्थ्य आधार पर मांगी गई अंतरिम जमानत याचिका निष्पादित कर दी।