चिन्मयानंद कांड : आश्रम के अधिकांश हिस्से, कई संदिग्ध स्थान एसआईटी ने कब्जे में लिए

कानून की छात्रा के यौन उत्पीड़न के आरोपों में एसआईटी की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, स्वामी चिन्मयानंद की मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं। एसआईटी ने पहले तो गुरुवार-शुक्रवार की दरम्यानी रात जिला पुलिस लाइन में स्वामी चिन्मयानंद से घंटों पूछताछ की।

Written by: September 13, 2019 5:40 pm

शाहजहांपुर। कानून की छात्रा के यौन उत्पीड़न के आरोपों में एसआईटी की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, स्वामी चिन्मयानंद की मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं। एसआईटी ने पहले तो गुरुवार-शुक्रवार की दरम्यानी रात जिला पुलिस लाइन में स्वामी चिन्मयानंद से घंटों पूछताछ की। इसके बाद शुक्रवार को एसआईटी ने चिन्मयानंद के मुमुक्ष आश्रम सहित उन कई संस्थानों को अपने कब्जे में ले लिए, जो संदिग्ध हैं।

चिन्मयानंद के दिव्यधाम को बीती रात ही कब्जे में ले लिया गया था। यहां मात्र एक कमरा चिन्मयानंद के सोने भर के लिए छोड़ा गया है। शाहजहांपुर पुलिस सूत्रों के मुताबिक, “शुक्रवार को मुमुक्ष आश्रम से संबद्ध सभी संस्थाओं को तीन दिनों के लिए बंद कर उसे कब्जे में ले लिया गया हैं, ताकि एसआईटी जांच में कहीं कोई व्यवधान उत्पन्न न हो।”

Swami Chinmayanand

हालांकि एसआईटी की ओर से इस कदम के बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। सूत्रों ने बताया कि एसएसएमबी को खुला छोड़ा गया है, जबकि धर्मसभा इंटर कॉलेज, एसएस लॉ कॉलेज और एसएस कॉलेज को भी तीन दिनों के लिए एसआईटी ने अपने कब्जे में ले लिया है। उल्लेखनीय है कि गुरुवार रात एसआईटी ने रिजर्व पुलिस लाइन में चिन्मयानंद से पूछताछ की। इस दौरान चिन्मयानंद के वकील ओम सिंह भी मौजूद थे।

swami chinmayanand

कथित तौर पर चिन्मयानंद से वायरल वीडियो को लेकर पूछताछ की गई, जिसमें वह एक लड़की से मसाज कराते दिख रहे हैं। सूत्रों के अनुसार, हालांकि उन्होंने सभी आरोपों से इंकार किया है।