सीजेआई यौन उत्पीड़न मामला: सीबीआई और आईबी चीफ को सुप्रीम कोर्ट ने किया तलब

सर्वोच्च न्यायालय ने बुधवार को गुप्तचर ब्यूरो (आईबी), केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के निदेशकों और दिल्ली पुलिस आयुक्त को बुलाकर वकील उत्सव बैंस द्वारा पेश किए गए सबूतों की जांच करने को कहा।

Written by Newsroom Staff April 24, 2019 3:59 pm

नई दिल्ली। सर्वोच्च न्यायालय ने बुधवार को गुप्तचर ब्यूरो (आईबी), केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के निदेशकों और दिल्ली पुलिस आयुक्त को बुलाकर वकील उत्सव बैंस द्वारा पेश किए गए सबूतों की जांच करने को कहा। बैंस ने प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई को यौन उत्पीड़न के झूठे मामले में फंसाए जाने के अपने आरोपों के समर्थन में कुछ सबूत पेश किए है।

supreme court of india, Delhi

वकील उत्सव बैंस ने कहा कि सीजेआई के खिलाफ सबसे बड़ी साजिश रची गई। इसमें बड़े कारपोरेट हाउस का हाथ है। वकील ने जांच एजेंसियों के प्रमुख से मिलने की मांग की। बेंच ने दस्तावेज देखने के बाद अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल से कहा कि क्या आप किसी जिम्मेदार जांच अधिकारी को चैम्बर में बुलाएंगे। अगर मामला सही है तो बेहद गंभीर है। उत्सव की सुरक्षा जारी रखें।

rajan gogoi, cji

न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा, न्यायमूर्ति रोहिंटन फली नरीमन और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने तीनों अधिकारियों से अपने कक्षों में अपराह्न् 12.30 बजे मुलाकात की। न्यायमूर्ति गुप्ता ने कहा, “हम (वकील बैंस द्वारा एक सीलबंद लिफाफे में पेश किए गए) हलफनामे में मौजूद किसी भी चीज का खुलासा नहीं कर रहे हैं। बहुत गंभीर मुद्दे उठाए गए हैं।”

ranjan gogoi justice

बता दें कि उत्सव बैंस ने ही यह दावा किया था कि सीजेआई को एक साजिश के तहत फंसाया जा रहा है। उन्होंने फेसबुक पोस्ट के जरिए इस साजिश के बारे में विस्तार से बताया है। बैंस का कहना है, “मेरे पास सीसीटीवी फुटेज है, जो असली सबूत है। मैं इसे कोर्ट में सौंप रहा हूं। आरोपी-मास्टरमाइंड बेहद ताकतवर है।”