स्वतंत्रता दिवस के भाषण पर कांग्रेस ने किया सवाल, कहा- चीन पर चुप क्यों रहे प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के लालकिले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करने के एक दिन बाद, कांग्रेस (Congress) ने रविवार को सवाल किया कि एलएसी (LAC) और लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley) में हुई घटना के संदर्भ में स्वतंत्रता दिवस के अपने भाषण में प्रधानमंत्री ने चीन का नाम क्यों नहीं लिया।

Avatar Written by: August 16, 2020 4:17 pm

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के लालकिले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करने के एक दिन बाद, कांग्रेस (Congress) ने रविवार को सवाल किया कि एलएसी (LAC) और लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley) में हुई घटना के संदर्भ में स्वतंत्रता दिवस के अपने भाषण में प्रधानमंत्री ने चीन का नाम क्यों नहीं लिया। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला (Randeep Singh Surjewala) ने कहा, “हमें अपने सशस्त्र बलों पर गर्व है। सभी 130 करोड़ भारतीय सशस्त्र बलों के साहस पर विश्वास करते हैं, जिनमें कांग्रेस भी शामिल है। लेकिन प्रधानमंत्री अपने भाषण में चीन का नाम लेने से क्यों डरते हैं।”

PM Modi and randeep singh

कांग्रेस ने कहा कि सीमा पर तनाव शुरू होने के बाद से मोदी ने आज तक प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से चीन का नाम नहीं लिया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को ट्वीट किया, “सभी को भारतीय सेना की क्षमता और शौर्य पर विश्वास है। सिवाय प्रधानमंत्री के – जिनकी कायरता ने ही चीन को हमारी जमीन लेने दी। जिनका झूठ सुनिश्चित करेगा कि वो चीन के पास ही रहेगी।”

पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने कहा, “चीन ने हमारे क्षेत्र पर कब्जा कर लिया है और भारत के प्रधानमंत्री में चीन का नाम लेने की हिम्मत नहीं है।” तिवारी ने सवालिया लहजे में कहा, “वह किस तरह के नेता हैं?”

अपने स्वतंत्रता दिवस के बयान में, कांग्रेस अंतरिम प्रमुख सोनिया गांधी ने भी 15 जून को गलवान घाटी में हुई झड़प के लिए प्रधानमंत्री पर निशाना साधा था और झड़प में देश के लिए अपना जीवन कुर्बान करने वाले 20 बहादुरों को श्रद्धांजलि अर्पित की थी।

Sonia Gandhi

पीएम मोदी ने शनिवार को 74 वें स्वतंत्रता दिवस पर कहा था कि भारत की संप्रभुता का सम्मान देशवासियों के लिए सर्वोच्च है और जब भी किसी ने देश की क्षेत्रीय अखंडता को चुनौती दी है भारतीय सेना ने माकूल जवाब दिया है।