CAA के खिलाफ राजघाट पर कांग्रेस का सत्याग्रह, सोनिया गांधी व राहुल गांधी भी पहुंचे

राजघाट पर सोनिया गांधी व राहुल गांधी के साथ कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा,  पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, राज्यसभा सांसद अहमद पटेल और आनंद शर्मा नागरिकता संशोधन कानून आंदोलन और NRC के विरोध में प्रदर्शन करते दिखाई दिए।

Avatar Written by: December 23, 2019 4:43 pm

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कांग्रेस ने अपने विरोध को सत्याग्रह का नाम दिया है। सोमवार को कांग्रेस सभी बड़े नेता राजघाट पर सत्याग्रह के जरिए केंद्र सरकार द्वारा लाए गए CAA का विरोध जता रहे हैं। इसको लेकर पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के घर शनिवार को एक बैठक हुई, जिसमें CAA के खिलाफ सत्याग्रह का फैसला लिया गया था।

congress rajghat

CAA का विरोध

इस सत्याग्रह में सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी के तमाम बड़े नेता शामिल हुए। बता दें कि इसके पहले अभी तक CAA का विरोध कर रही कांग्रेस तो कर रही थी, लेकिन कोई बड़ा नेता इस तरह सड़कों पर नहीं था।

राजघाट पर इसके शुरुआत में सोनिया गांधी ने संविधान की प्रस्तावना को पढ़ा। उनके बाद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी संविधान की प्रस्तावना को पढ़ा।

इस कानून को लेकर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा लागू किया गया नागरिकता कानून एमपी में लागू नहीं होगा। कांग्रेस सरकार इसे लागू नहीं करेगी। इसके अलावा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और छत्तीसगढ़ सरकार में मंत्री टीएस सिंहदेव ने अपने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की तरफ से कहा कि हमारे राज्यों में भी एनआरसी लागू नहीं होगा।

Manmohan Singh Rajghat

ये बड़े नेता हुए शामिल

फिलहाल राजघाट पर सोनिया गांधी व राहुल गांधी के साथ कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, राज्यसभा सांसद अहमद पटेल और आनंद शर्मा नागरिकता संशोधन कानून आंदोलन और NRC के विरोध में प्रदर्शन करते दिखाई दिए।

Rajghat congress leaders

पीएम मोदी ने इसको लेकर कहा था..

आपको बता दें कि नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) के खिलाफ देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन जारी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से रविवार को दिल्ली रैली में प्रदर्शनकारियों को अफवाह में ना आने की अपील की और कहा कि NRC जैसी कोई चीज़ नहीं है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost