बहस के लिए कांग्रेस ने मांगे 2 दिन, सरकार बोली- वनडे के जमाने में टेस्ट खेलेंगे?

Written by: July 20, 2018 12:00 pm

नई दिल्ली। लोकसभा में आज मोदी सरकार के खिलाफ पहला अविश्वास प्रस्ताव पेश किया गया। अविश्वास प्रस्ताव से पहले कांग्रेस और विपक्ष के अन्य सदस्यों ने इस बात पर आपत्ति जताई कि उन्हें इस मुद्दे पर बोलने का कम समय दिया जा रहा है। कांग्रेस इस बात से भी असहमत थी कि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए महज एक दिन तय किया गया है।

Congress leader Mallikarjun Kharge And Ananth Kumar

संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने चुटकी लेते हुए कहा कि विपक्ष वनडे के जमाने में पांच दिन का टेस्ट खेलना चाहता है। वहीं स्पीकर ने भी विपक्ष की आपत्ति ये कहते हुए खारिज कर दी कि अनंत बहस नहीं चल सकती, अनंत और अनादि केवल भगवान होता है।

Ananth Kumar

लोकसभा में आज जैसे ही कार्यवाही शुरू हुई, लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने ये कहते हुए आपत्ति जताई कि विपक्ष को अविश्वास प्रस्ताव पर बोलने के लिए बहुत कम समय दिया गया है। आरजेडी जैसे दल को महज एक मिनट बोलने को दिया गया है। विपक्ष के कुछ अन्य सदस्य भी ये कहते हुए खड़े हो गए कि सत्ता पक्ष से ज्यादा विपक्ष को बोलने का मौका मिलना चाहिए। खड़गे ने ये भी कहा कि चर्चा को एक दिन की सीमा में बांधना ठीक नहीं है. इसे दूसरे दिन भी चलाया जा सकता है, लेकिन बोलने का मौका सबको पर्याप्त मिलना चाहिए।

sumitra mahajan, lok sabha Speaker

अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए कुल 7 घंटे के समय में अध्यक्ष ने टीडीपी को बोलने के लिए 13 मिनट का समय दिया है। पार्टी की ओर से जयदेव गल्ला ने शुरुआत की है।मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को प्रस्ताव पर अपने विचार रखने के लिए 38 मिनट का समय दिया गया है।

Lok Sabha

अन्य विपक्षी दल अन्नाद्रमुक, तृणमूल कांग्रेस, बीजू जनता दल (बीजद), तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) को क्रमश : 29 मिनट, 27 मिनट, 15 मिनट और 9 मिनट का समय दिया गया है। सदन में बहुमत वाली सत्तारूढ़ भाजपा को चर्चा में तीन घंटे और 33 मिनट का समय दिया गया है।