Punjab: किसान हितैषी होने का दावा करने वाली सरकार की खुल गई पोल, कर्ज में डूबे किसान ने की आत्महत्या

Punjab: पंजाब (Punjab) में किसान हितैषी होने का दावा करने वाली सरकार (Punjab Goverment) की पोल खुल गई है। जालंधर (Jalandhar) के गांव मोसाहिब में एक किसान ने कर्ज की वजह से फांसी लगा कर आत्महत्या (Farmer Committed Suicide) कर ली है।

Avatar Written by: October 26, 2020 5:41 pm
kisaan suicide punjab

जालंधर। पंजाब (Punjab) में किसान हितैषी होने का दावा करने वाली सरकार (Punjab Goverment) की पोल खुल गई है। जालंधर (Jalandhar) के गांव मोसाहिब में एक किसान ने कर्ज की वजह से फांसी लगा कर आत्महत्या (Farmer Committed Suicide) कर ली है। बताया जा रहा है कि किसान कर्ज चुका न पाने के कारण पिछले कुछ दिनों से काफी दबाव में था। कर्जदाता उस पर कर्ज वापस करने का दबाव बना रहे थे।

kisaan suicide punjab

कर्जदाताओं ने माफ किया ऋण

पुलिस के मुताबिक कर्ज में डूबे किसान त्रिलोचन सिंह (Trilochan Singh) के ऊपर 17-18 लाख का कर्ज था। जिसकी वजह से उन्होंने ये कदम उठाया। हालांकि, अब कर्जदाताओं ने कर्ज को माफ कर दिया है। पुलिस ने बताया कि त्रिलोचन सिंह ने कल रात खुदकुशी की थी।

kisaan suicide punjab3

त्रिलोचन सिंह के कर्ज को अब कर्जदाताओं ने माफ कर दिया है। पुलिस ने बताया कि लेनदार खुद इनके घर आए और लिखकर दे गए हैं कि हमारा कोई लेन-देन नहीं रहता। वहीं, किसान कि मौत के बाद उनके घर पर मातम पसरा हुआ है। घर वालों का रो-रो कर बुरा हाल है।

पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम के बाद ही मौत का कारण पता लग पाएगा। वहीं, सरकार का कहना है कि वो मृतक किसान के परिवार की मदद जरूर करेगी।

suicide

अमृतसर में भी एक किसान ने की थी आत्महत्या

बता दें कि एक माह पूर्व अमृतसर में भी एक किसान ने आत्महत्या कर ली थी। उसने भी कर्ज न लौटा पाने के दबाव में फंदा लगाकर जान दे दी थी। आत्महत्या करने से पहले उसने एक वीडियो में एक आढ़ती समेत 2 लोगों खिलाफ बयान दिया था। दोनों को अपनी मौत का जिम्मेदार बताते हुए कहा कि उसने इनसे कुछ पैसे लिए और लौटा भी दिए। इसके बावजूद झूठे केस दर्ज करवाकर परेशान कर रहे थे।

Support Newsroompost
Support Newsroompost