‘दिल्ली में अगर अभी हुए चुनाव तो भाजपा को मिलेंगी 42 सीटें’

आप ने पिछले विधानसभा चुनाव में सर्वाधिक 67 सीटें जीती थी, जबकि कांग्रेस अपना खाता भी नहीं खोल पाई थी। भाजपा के लिए कराए गए सर्वे में कहा गया कि इस बार भाजपा अपने वोट प्रतिशत में सुधार करते हुए 46.6 प्रतिशत प्राप्त कर सकती है।

Written by: December 13, 2019 9:24 pm

नई दिल्ली। एक सर्वे में कहा गया है कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में यदि अभी चुनाव हों तो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 42 सीटें मिल सकती हैं। सर्वे में शुक्रवार को कहा गया कि वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में तीन सीटें जीतने वाली भाजपा को अभी मतदान होने की स्थिति में बहुमत प्राप्त हो सकता है।

bjp symbol

कांग्रेस को दो सीटें मिल सकती हैं

भाजपा के लिए ग्लोबल एक्शन यंग नेटवर्क की ओर से किए गए सर्वे में कहा गया कि भाजपा को जहां 42 सीटें मिलेंगी, वहीं सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) को 26 और कांग्रेस को दो सीटें मिल सकती हैं।

KEJRIWAL BJP

भाजपा 46.6 प्रतिशत प्राप्त कर सकती है

आप ने पिछले विधानसभा चुनाव में सर्वाधिक 67 सीटें जीती थी, जबकि कांग्रेस अपना खाता भी नहीं खोल पाई थी। भाजपा के लिए कराए गए सर्वे में कहा गया कि इस बार भाजपा अपने वोट प्रतिशत में सुधार करते हुए 46.6 प्रतिशत प्राप्त कर सकती है। वहीं, आप पार्टी को 31.8 प्रतिशत वोट के साथ ही संतोष करना पड़ सकता है। कांग्रेस और अन्य को 15.4 व 6.2 प्रतिशत वोट शेयर मिल सकता है।

केजरीवाल से 63 प्रतिशत लोग खुश नहीं 

इस सर्वे में कहा गया है कि “मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आप सरकार से 63 प्रतिशत लोग खुश नहीं हैं।” इसमें कहा गया है कि वादों के अनुसार, आप पार्टी की सरकार ने निजी स्कूलों की फीस में कटौती, दिल्ली परिवहन निगम में बसों की वृद्धि, रिहायशी इलाकों में कूड़ा उठाने वाली गाड़ियों में वृद्धि और साफ पानी जैसे अपने वादों को पूरा नहीं किया।

arvind kejriwal
सर्वे में 68 प्रतिशत लोगों ने ऐसा माना की दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण के लिए केजरीवाल सरकार जिम्मेदार है। इसमें कहा गया कि 81 प्रतिशत के साथ दिल्ली की जनता सबसे अधिक भरोसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर करती है। इसके बाद केजरीवाल का नंबर आता है।