आप सरकार के खिलाफ भाजपा का आरोप-पत्र जारी, लगाए ये बड़े आरोप

दिल्ली में विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले भाजपा और दिल्ली में सत्ताधारी आप के बीच आरोप-प्रत्यारोप तेज हो गया है। भाजपा ने इसी कड़ी में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सरकार के खिलाफ शनिवार को एक आरोप-पत्र जारी किया है।

Written by: December 28, 2019 4:57 pm

नई दिल्ली। दिल्ली में विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले भाजपा और दिल्ली में सत्ताधारी आप के बीच आरोप-प्रत्यारोप तेज हो गया है। भाजपा ने इसी कड़ी में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सरकार के खिलाफ शनिवार को एक आरोप-पत्र जारी किया है। आरोप-पत्र को ‘झूठ और विश्वासधात की आप सरकार’ का नाम दिया गया है। भाजपा ने आरोप-पत्र में कहा है कि केजरीवाल सरकार ने सत्ता में आने से पहले 70 वादे दिल्ली वालों से किए थे, लेकिन चार साल बीत जाने के बावजूद सरकार एक भी वादा नहीं निभा पाई है।

Delhi BJP

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने दिल्ली की प्रदूषित हवा और पानी के मुद्दे पर घेरते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, “स्वास्थ्य मंत्री होने के नाते मैं कह सकता हूं कि इस समय दिल्ली के अस्पतालों में बड़ी संख्या में बीमार बच्चों को लाया जा रहा है। ये अधिकतर बच्चे गंदे पानी के कारण बीमार पड़े हैं, जो इस बात का सबूत है कि अरविंद केजरीवाल जी ने दिल्ली के पानी और वायु प्रदूषण पर ध्यान नहीं दिया।”

DR Harsh Vardhan

दिल्ली में 1797 अनधिकृत कॉलोनियां को नियमित किए जाने का श्रेय लेते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल सरकार ने इस मुद्दे को पांच साल तक लटकाए रखा था, जबकि प्रधानमंत्री मोदी ने सिर्फ पांच महीने में इस मुद्दे को सुलझा दिया।

भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस मौके पर केजरीवाल सरकार पर झूठ और विश्वासघात का आरोप लगाते हुए कहा, “आप सरकार अन्ना आंदोलन की देन है। लेकिन सरकार अब भष्ट्राचार, तुष्टीकरण, विफलताओं और सत्ता के अहंकार का सबसे भद्दा और वीभत्स चेहरा बन गई है।”

Delhi BJP

नागरिकता संशोधन कानून पर दिल्ली में जारी हंगामे को लेकर तिवारी ने सीधा आरोप लगाया कि “आम आदमी पार्टी के कुछ विधायक इन दंगों को भड़का रहे हैं, जबकि डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने फर्जी विडियो ट्वीट कर दिल्ली में आग भड़काने का काम किया।”

भाजपा ने अपने आरोप-पत्र को घर घर तक पहुंचाने का निर्णय लिया है। आप सरकार के खिलाफ आरोप-पत्र जारी करते वक्त भाजपा के दिल्ली के पांच सांसद मौजूद थे। गौरतलब है कि दिल्ली में अगले महीने विधानसभा चुनाव हो सकते हैं।

पक्षपातपूर्ण व्यवहार करता है पाकिस्तान : डॉ. हर्षवर्धन

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर दानिश कनेरिया का मुद्दा अब केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने उठाया है। उनके मुताबिक, दानिश के साथ हुआ पक्षपातपूर्ण बर्ताव पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदुओं के उत्पीड़न की सच्चाई बयां करता है। मंत्री ने दानिश के उत्पीड़न को नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) से जोड़ा है। दानिश कनेरिया पाकिस्तानी हिंदू नागरिक हैं। वह लंबे समय तक पाकिस्तान क्रिकेट टीम का हिस्सा रहे हैं। सीएए को दानिश के साथ जोड़ते हुए हर्षवर्धन ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का आभार, जिन्होंने पीड़ित हिंदुओं के दर्द को समझा और उन्हें भारत की नागरिकता देने की पहल करी।”

डॉक्टर हर्षवर्धन के मुताबिक, इस प्रकार के उत्पीड़न से दुखी होकर भारत आए लोगों को नागरिकता देने के लिए नागरिकता संशोधन कानून बनाया गया है।पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने एक चैट शो में बताया था कि पाकिस्तान टीम के ही कुछ खिलाड़ियों ने हिंदू होने के कारण दानिश का अपमान किया। शोएब ने खुलासा किया है कि हिंदू होने की वजह से ही पाकिस्तान में दानिश को जरूरी श्रेय नहीं मिला। शोएब के मुताबिक, कुछ पाकिस्तानी खिलाड़ी तो दानिश के धर्म के कारण उसके साथ खाना भी नहीं खाते थे।

Shoaib Akhtar and danish kaneria

डॉक्टर हर्षवर्धन का कहना है कि दानिश कनेरिया के साथ पक्षपातपूर्ण बर्ताव पर शोएब अख्तर का ये बयान पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदुओं के उत्पीड़न की सच्चाई बयां करता है। शोएब अख्तर द्वारा खुलासा किए जाने के बाद दानिश ने कहा कि कुछ खिलाड़ी पीठ पीछे उनको लेकर टिप्पणियां करते थे, फिर भी उन्होंने पाकिस्तानी खिलाड़ियों की इन हरकतों को कभी मुद्दा नहीं बनाया।

दानिश कनेरिया के उत्पीड़न का खुलासा होने के बाद कई नेताओं व संगठनों ने इस पर प्रतिक्रिया दी, लेकिन केंद्र सरकार के किसी बड़े कैबिनेट मंत्री द्वारा दानिश का मुद्दा उठाया जाना अहम है।