दिल्ली पुलिस कमिश्नर की प्रदर्शनकारियों से अपील- ‘शांति बनाए रखें और ड्यूटी पर वापस लौटें’

इस प्रदर्शन और पुलिसकर्मियों की मांगों को देखते हुए दिल्ली पुलिस कमीश्नर अमूल्य पटनायक ने उन्हें संबोधित करते हुए अपील की कि हमारे लिए ये परीक्षा की घड़ी है और प्रतीक्षा की घड़ी है।

Written by: November 5, 2019 1:06 pm

नई दिल्ली। दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों की हिंसक झड़प के बाद पुलिसकर्मियों ने दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन और पुलिसकर्मियों की मांगों को देखते हुए दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने उन्हें संबोधित करते हुए अपील की कि हमारे लिए ये परीक्षा की घड़ी है और प्रतीक्षा की घड़ी है।

Delhi CP Amulya Patlaik

बता दें कि मंगलवार सुबह दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर के बाहर भारी संख्या में दिल्ली पुलिस के जवान इकट्ठा हुए। जवान अपने हाथ में काली पट्टी बांधकर पहुंचे हैं और वकीलों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। उनके इस प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने उनके बीच जाकर कहा कि “ये हमारे लिए परीक्षा की घड़ी है, सभी जवान शांति बनाए रखें और अपनी ड्यूटी पर वापस लौटें।” उन्होंने कहा कि, ‘हर हाल में हमें नहीं भूलना चाहिए कि हम कानून के रखवाले हैं।’

tis hazari court

पुलिस जवानों की मांग-

प्रदर्शन कर रहे पुलिस जवानों की मांग है कि दोषी वकीलों के खिलाफ एक्शन लिया जाना चाहिए, उन्हें लगातार डर बना हुआ कि शहर में कहीं पर भी उनपर हमला हो सकता है। दिल्ली पुलिस और वकीलों के बीच चल रहे मामले में केंद्रीय गृह मंत्रालय को रिपोर्ट मिल गई है। दिल्ली पुलिस ने इस रिपोर्ट को सौंपा है।

किरन बेदी को लेकर लगा नारा

दिल्ली पुलिस कमिश्नर जब लोगों से अपील कर रहे थे तो उस दौरान प्रदर्शन कर रहे जवानों ने ‘पुलिस कमिश्नर कैसा हो, किरन बेदी जैसा हो’ के नारे लगाए। जहां अमूल्य पटनायक ने प्रदर्शन कर रहे लोगों से काम पर वापस लौटने की अपील की तो वहीं बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने भी वकीलों से अपील की है कि वो अपनी हड़ताल खत्म करें।

वकीलों की मांग है-

दूसरी तरफ वकीलों की मांग है कि तीस हजारी कोर्ट में हमला करने वाले पुलिसकर्मियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाए। हालांकि, दिल्ली हाई कोर्ट में इस हड़ताल का कोई असर नहीं है। हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में और दिनों की तरह कोर्ट में मामलों की सुनवाई चल रही है।

tees hazari court

शनिवार को तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकील भिड़ गए थे। दोनों के बीच मामला इतना बढ़ गया कि पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। जिसके बाद वकीलों ने पुलिस जीप समेत कई वाहनों को आग लगा दी थी और तोड़फोड़ की थी। आपको बता दें कि तीस हजारी कोर्ट के लॉकअप में जब एक वकील को पुलिस जवानों ने अंदर जाने से रोका था। उसी के बाद कहासुनी बढ़ गई थी और दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए थे।