अब्दुल जब्बार के निधन से कुछ घंटे पहले दिग्विजय ने की थी मुलाकात, MP के सरकारी अस्पतालों की खोली थी पोल

कांग्रेस पार्टी नेता दिग्विजय सिंह उन्हें देखने अस्पताल गए थे। इस दौरान दिग्विजय सिंह की बातों से लग रहा था कि, वो कहना चाह रहे थे कि प्रदेश की सरकारी अस्पतालों की स्थिति काफी ज्यादा बिगड़ी है। 

Written by: November 15, 2019 1:51 pm

नई दिल्ली। भोपाल गैस पीड़ितों के हक की लड़ाई लड़ने वाले अब्दुल जब्बार का गुरुवार की देर रात को निधन हो गया। वे बीते कुछ दिनों से बीमार थे और अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। राजधानी भोपाल स्थित यूनियन कार्बाइड फैक्टरी से दो दिसंबर 1984 की रात को रिसी जहरीली मिथाइल आइसोसाएनेट गैस ने हजारों लोगों की जान ले ली थी।

Bhopal Gas Tragedy Activist Abdul Jabbar

अब्दुल जब्बार ने इस त्रासदी में अपने माता-पिता को खो दिया था। इस गैस का उनके फेफड़ों और आंखों पर भी गंभीर असर हुआ था। वे भी बीमरियों की जद में आ गए थे, उन्हें एक आंख से कम दिखाई देता था।

activist Abdul Jabbar

अब्दुल जब्बार, विश्व की भयावह औद्योगिक त्रासदी के बाद से लगातार भोपाल गैस पीड़ितों के हक़ की लड़ाई लड़ते रहे जब्बार का गुरुवार रात भोपाल में निधन हो गया। वो लंबे समय से बीमार चल रहे थे। इससे पहले दिन में, मध्य प्रदेश सरकार ने घोषणा की थी कि वो 1984 के यूनियन कार्बाइड गैस रिसाव त्रासदी के पीड़ितों के लिए काम करने वाले प्रमुख कार्यकर्ता अब्दुल जब्बार का इलाज कराएगी। खुद सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर इसका एलान किया था।


कांग्रेस पार्टी नेता दिग्विजय सिंह उन्हें देखने अस्पताल गए थे। इस दौरान दिग्विजय सिंह की बातों से लग रहा था कि, वो कहना चाह रहे थे कि प्रदेश की सरकारी अस्पतालों की स्थिति काफी ज्यादा बिगड़ी है।

Kamla Nehru Hospital Bhopal

दरअसल, दिग्जिवजय सिंह ने अब्दुल जब्बार के निधन से पहले उन्हें कहा कि, तुम्हें कुछ नहीं होने देंगे। मुंबई जाने की तैयारी करो। इतने दिनों से कमला नेहरु अस्पताल में पड़े रहे इसलिए ये सब हुआ है। उनकी बातों से लग रहा था कि, वो प्रदेश की सरकारी अस्पतालों के खस्ताहाल की जानकारी दे रहे हैं।