Kamal Nath पर चला EC का चाबुक तो बौखलाए दिग्विजय सिंह ने उठा दी आयोग पर ही उंगली, कही ये बात

Digvijay Singh: इस तरह के कदम पर अब कांग्रेस(Congress) पार्टी के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा है कि, इस तरह के एक्शन का अधिकार चुनाव आयोग के पास नहीं है।

Avatar Written by: October 31, 2020 2:16 pm
digvijay_singh

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के उपचुनाव में प्रचार के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ को लेकर लगातार आ रहीं शिकायतों के बाद चुनाव आयोग ने कार्रवाई करते हुए कमलनाथ का नाम कांग्रेस पार्टी के स्टार प्रचारकों की लिस्ट से हटा दिया है। दरअसल कमलनाथ पर बीते दिनों चुनावी रैलियों में आदर्श आचार संहिता के बार-बार उल्लंघन का आरोप लगा था जिसके बाद चुनाव आयोग ने उनके खिलाफ ये कार्रवाई की है। भाजपा नेता इमरती देवी को आइटम बोलने के बाद कमलनाथ ने एक अन्य सभा में शिवराज सिंह को नौटंकी कलाकार भी कहा था। इन सब को देखते हुए चुनाव आयोग ने कदम उठाया है। हालांकि कमलनाथ पर इस कार्रवाई का असर ये होगा कि अब वे मध्य प्रदेश उपचुनाव में प्रचार तो कर सकेंगे, लेकिन खर्चा पार्टी नहीं प्रत्याशी देगा। इस तरह के कदम पर अब पार्टी के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा है कि, इस तरह के एक्शन का अधिकार चुनाव आयोग के पास नहीं है।

Digvijay Singh

दिग्विजय सिंह ने कहा है कि, “स्टार प्रचारक की सूची का अधिकार राजनीतिक दलों का है, केंद्रीय चुनाव आयोग का नहीं है। उन्होंने अपनी गाइडलाइंस का उल्लंघन किया है।” दिग्विजय सिंह का कहना है कि, चुनाव आयोग इस तरह के कदम नहीं उठा सकती, क्योंकि ये उसके अधिकार क्षेत्र में नहीं है। वहीं दिग्विजय सिंह ने उल्टे चुनाव आयोग पर आरोप लगाया है कि आयोग ने गाइडलाइंस का उल्लंघन किया है।

Kamalnath Government

बता दें कि चुनाव आयोग की तरफ से बार-बार दी गई चेतावनी के बावजूद अपना रूख ना बदलने की वजह से कमलनाथ के खिलाफ इस तरह का सख्त कदम चुनाव आयोग ने उठाया है। वहीं जब आइटम वाले बयान पर कांग्रेस की किरकिरी होने लगी थी तो कमलनाथ ने अपनी सफाई में कहा था कि मेरा मकसद किसी को ठेस पहुंचाना नहीं था। कमलनाथ के जबाव के बाद चुनाव आयोग ने उन्हें नसीहत दी कि सार्वजनिक तौर पर ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।