ममता के प्रस्ताव पर डॉक्टरों का जवाब, मिलने की जगह हम तय करेंगे

ममता बनर्जी की इस अपील के बाद जूनियर डॉक्टर भी सीएम से बात करने को तैयार हो गए हैं। लेकिन डॉक्टरों ने कहा है कि, हम सीएम ममता बनर्जी के साथ बात करने को तैयार हैं लेकिन मिलने की जगह हम तय करेंगे।

Written by: June 16, 2019 9:25 am

पश्चिम बंगाल में डॉकटरों पर हुए हिंसा के बाद वहां के डॉक्टर हड़ताल पर चले गए थे। इसके बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने डॉक्टरों से बातचीत करने के लिए प्रस्ताव भेजा है। ममता बनर्जी की इस अपील के बाद जूनियर डॉक्टर भी सीएम से बात करने को तैयार हो गए हैं। लेकिन डॉक्टरों ने कहा है कि, हम सीएम ममता बनर्जी के साथ बात करने को तैयार हैं लेकिन मिलने की जगह हम तय करेंगे। डॉक्टरों के कहना है कि, हम जो लड़ाई लड़ रहे हैं उसमें पूरा राज्य हमारे साथ है और ऐसे में ममता बनर्जी बंद कमरे में बात करने को बोल रही हैं। ये हम नहीं कर सकते।

mamata banerjee

डॉक्टरों का कहना है कि, ‘जूनियर डॉक्टर परिबाहा मुखोपाध्याय पर हमला किया गया है वो कोई अचानक किया गया हमला नहीं था, बल्कि एक सुनियोजित हमला था। ममता बनर्जी घायल डॉक्टर से जा कर मिले. पूरे राज्य में 230 से भी ज्यादा डॉक्टरों पर हमले हुए हैं लेकिन कभी कोई कार्रावई नहीं हुई। ममता बनर्जी कहती हैं कि, डॉक्टरों पर हुए हमले वाले 99 फीसदी मामले गंभीरता से देखी जाती है। ये लड़ाई हमारे अस्तित्व की लड़ाई है और मुख्यमंत्री के लिए अंहकार के लड़ाई बन चुकी है’।

mamata

डॉक्टरों का कहना है कि, ‘ममता बनर्जी ने कहा था जब वो एसएसकेएम हॉस्पिटल गईं, तो उन पर हमला हुआ और ये बात बिल्कुल भी सच नहीं है। वो बैरीकेट के घेरे में थी और हम लोग न्याय मांगने के लिए सिर्फ नारे लगा रहे थे। ममता बनर्जी डॉक्टरों की तुलना पुलिस से करती हैं. हम पुलिस का सम्मान करते हैं, लेकिन उन्हें ट्रेनिंग और हथियार दिए जाते हैं। हम लोगों को हथियार चलाने के लिए ट्रेंड नहीं किया जाता। ममता बनर्जी कहती हैं कि, ये बाहरी लोगों का आंदोलन बन चुका है लेकिन हम कहते हैं कि, ये सिर्फ जूनियर डॉक्टरों का आंदोलन नहीं है। ये पूरे देश के स्वास्थ्य महकमें का आंदोलन है। हालांकि, हम इस पर चर्चा करा चाहते हैं और गतिरोध को खत्म करना चाहते हैं’।