साध्वी के बयान पर बोले लेफ्टिनेंट जनरल, ‘किसी शहीद के बारे में ऐसे बयान से दुख होता है’

शहीद हेमंत करकरे को लेकर साध्वी प्रज्ञा द्वारा की गई टिप्पणी पर बड़ा बवाल मचा है। हालांकि वो इस पर माफी भी मांग चुकी हैं। अब इस मामले पर लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) डीएस हुड्डा ने कहा कि हां ऐसे बयान से दुख होता है जब किसी शहीद के बारे में ऐसी बातें कही जाती हैं। उन्होंने कहा कि सेना हो या पुलिस पूरा सम्मान दिया जाना चाहिए। ऐसे बयान ठीक नहीं है।

Avatar Written by: April 21, 2019 5:45 pm

नई दिल्ली। शहीद हेमंत करकरे को लेकर साध्वी प्रज्ञा द्वारा की गई टिप्पणी पर बड़ा बवाल मचा है। हालांकि वो इस पर माफी भी मांग चुकी हैं। अब इस मामले पर लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) डीएस हुड्डा ने कहा कि हां ऐसे बयान से दुख होता है जब किसी शहीद के बारे में ऐसी बातें कही जाती हैं। उन्होंने कहा कि सेना हो या पुलिस पूरा सम्मान दिया जाना चाहिए। ऐसे बयान ठीक नहीं है।

बता दें कि गुरुवार को भोपाल में बीजेपी की एक बैठक में साध्वी प्रज्ञा ने कहा था कि मैंने करकरे का सर्वनाश होने का श्राप दिया था और इसके सवा माह बाद आतंकवादियों ने उन्हें मार दिया। साथ ही उन्होंने कहा था कि मुंबई एटीएस के तत्कालीन चीफ हेमंत करकरे उन्हें जेल में काफी यातनाएं दी थीं।

मुंबई एटीएस प्रमुख का नाम लेते हुए कहा था, ‘मैं उस समय मुंबई जेल में थी। जो जांच बैठाई गई थी। सुरक्षा आयोग के सदस्य ने हेमंत करकरे को बुलाया और कहा था कि जब सबूत नहीं है तुम्हारे पास तो साध्वी जी को छोड़ दो। सबूत नहीं है तो इनको रखना गलत है, गैरकानूनी है। वह व्यक्ति कहता है कि मैं कुछ भी करूंगा, मैं सबूत लेकर के आऊंगा। कुछ भी करूंगा, बनाऊंगा करूंगा, इधर से लाऊंगा, उधर से लाऊंगा लेकिन मैं साध्वी को नहीं छोड़ूंगा।’

हालांकि बीजेपी ने प्रज्ञा के बयान से खुद को अलग कर लिया। बीजेपी के नेताओं ने भी उनके बयान की आलोचना की। गोरखपुर से बीजेपी विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल ने ट्वीट कर कहा कि हेमंत करकरे आतंकवादियों से मुकाबला करते हुए शहीद हो गए और उनकी शहादत का अपमान करना न सिर्फ शर्मनाक बल्कि राजद्रोह भी है।

बता दें कि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को बीजेपी ने भोपाल लोकसभा सीट पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के खिलाफ उम्मीदवार बनाया है। भोपाल लोकसभा सीट के लिए 12 मई को वोटिंग होनी है।