चुनाव आयोग ने इन दो मामलों में पीएम मोदी को दी क्लीन चिट

दरअसल, 23 अप्रैल को गुजरात में पीएम मोदी ने वोट डाला था। जब वह वोट डालने गए थे, तब खुली जीप पर मतदान करने गए थे। इसी को लेकर विपक्ष ने शिकायत की थी ये एक रोड शो के समान है और आचार संहिता का उल्लंघन है। जिस पर अब चुनाव आयोग की तरफ से पीएम मोदी को क्लीन चिट मिली है।

Written by: May 7, 2019 10:22 am

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दो और मामलों में क्लीनचिट दी है। इस घटनाक्रम से जुड़े सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी। कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि नरेंद्र मोदी ने 23 अप्रैल को अहमदाबाद में रोड शो किया। सूत्रों के अनुसार आयोग इस निष्कर्ष पर पहुंचा कि पीएम मोदी ने आदर्श आचार संहिता और चुनाव कानून का कोई उल्लंघन नहीं किया।

Narendra Modi

दरअसल, 23 अप्रैल को गुजरात में पीएम मोदी ने वोट डाला था। जब वह वोट डालने गए थे, तब खुली जीप पर मतदान करने गए थे। इसी को लेकर विपक्ष ने शिकायत की थी ये एक रोड शो के समान है और आचार संहिता का उल्लंघन है। जिस पर अब चुनाव आयोग की तरफ से पीएम मोदी को क्लीन चिट मिली है।

Narendra Modi

सूत्रों ने बताया कि आयोग ने पीएम मोदी को कर्नाटक के चित्रदुर्ग में नौ अप्रैल को उनके द्वारा दिए गए भाषण के सिलसिले में भी पाक साफ करार दिया। चित्रदुर्ग में उन्होंने अपने चुनावी भाषण में नए मतदाताओं से अपना वोट बालाकोट हवाई हमले के नायकों को समर्पित करने का कथित रूप से आह्वान किया था।

उसी दिन उन्होंने महाराष्ट्र में लातूर जिले के औसा में भी ऐसी ही अपील की थी। आयोग ने इस मामले में भी उन्हें क्लीन चिट दी थी लेकिन चुनाव आयुक्तों में एक ने इस मामले में असहमति व्यक्त की थी। वैसे आयोग ने अब तक अपने इन दोनों फैसलों को सार्वजनिक नहीं किया है लेकिन इन दोनों फैसलों के साथ ही मोदी को अब तक आठ मामलों में क्लीनचिट मिल चुकी है।

Narendra Modi

इससे पहले भी प्रधानमंत्री के खिलाफ चुनाव आचार संहिता उल्लंघन के सात मामलों में चुनाव आयोग क्लीन चिट दे चुका है। जिसको लेकर कांग्रेस भी कई सवाल खड़े कर चुकी है। कांग्रेस ने चुनाव आयोग पर पक्षपात का आरोप लगाया है और वह इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट भी पहुंचे हैं।