कांग्रेस ने प्रज्ञा ठाकुर के मंदिर जाने पर की थी चुनाव आयोग से शिकायत, मिला नोटिस

लोकसभा चुनाव में चुनाव आयोग की सख्ती का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि प्रज्ञा ठाकुर पर 2 मई को लगा बैन आज खत्म हो रहा था कि चुनाव आयोग ने फिर से उन्हें नोटिस थमा दिया।

Avatar Written by: May 5, 2019 11:43 am

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने विवादित बयानों के चलते भोपाल से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर 2 मई से 72 घंटे का बैन लगाया तो प्रज्ञा ठाकुर योगी आदित्यनाथ का फॉर्मूला अपनाते हुए मंदिर-मंदिर जाने लगीं। मंदिरों में उन्होंने पूजा और भजन भी गाए, जिसको लेकर चुनाव आयोग ने प्रज्ञा ठाकुर को फिर से नोटिस भेज दिया है।

लोकसभा चुनाव में चुनाव आयोग की सख्ती का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि प्रज्ञा ठाकुर पर 2 मई को लगा बैन आज खत्म हो रहा था कि चुनाव आयोग ने फिर से उन्हें नोटिस थमा दिया। दरअसल 72 घंटों के बैन के दौरान साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने ताबड़तोड़ 6 मंदिरों में जाकर भगवान के दर्शन किये और आशीर्वाद लिया। मंदिर दर्शन के दौरान साध्वी ने जमकर ढोलक बजाया और भक्तों संग झाल-मंजीरे और ढोलक की थाप पर भजन भी गाये।

कांग्रेस ने बैन के बाद भी मंदिरों के दर्शन पर चुनाव आयोग से प्रज्ञा ठाकुर की शिकायत की थी। बता दें कि कांग्रेस ने बैन के बावजूद मंदिर और गौशाला में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ जाने की शिकायत जिला निर्वाचन अधिकारी से की थी। इस शिकायत पर चुनाव आयोग ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को नोटिस भेजकर जवाब मांगा है।

हालांकि मंदिर जाना साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के मौलिक अधिकारों में आता है, इसलिए शायद ही चुनाव आयोग के इस नए नोटिस से प्रज्ञा ठाकुर को फिर से बैन झेलना पड़े। फिलहाल इस पर फैसला चुनाव आयोग के अधीन है। यही नहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर जब बैन लगा था तो उन्होंने भी बैन के दौरान लखनऊ के एक हनुमान मंदिर में जाकर दर्शन किया था।

Support Newsroompost
Support Newsroompost