इन तीन देशों से आए हर ‘गैर मुस्लिम’ को मिलेगी भारत की नागरिकता, इसी सत्र में आएगा बिल

इस सिटीजनशिप अमेंडमेंट बिल को लेकर केंद्र सरकार बहुत आशान्वित है। इस बिल के जरिए बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से 31 दिसम्बर 2014 से पहले भारत आए गैर-मुस्लिम आबादी को नागरिकता दी जाएगी। इसमे हिंदू, क्रिश्चियन, जैन, बौद्ध शामिल होंगे। 

Avatar Written by: November 18, 2019 2:12 pm

नई दिल्ली। संसद के मौजूदा शीतकालीन सत्र में केंद्र सरकार एक बेहद ही महत्वपूर्ण बिल लाने जा रही है। इस बिल के तहत भारत के तीन पड़ोसी देशों से आए गैर मुस्लिमों को भारत की नागरिकता दी जाएगी। कांग्रेस इस बिल का पहले भी विरोध कर चुकी है ।

PM Narendra Modi

इस सिटीजनशिप अमेंडमेंट बिल को लेकर केंद्र सरकार बहुत आशान्वित है। इस बिल के जरिए बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से 31 दिसम्बर 2014 से पहले भारत आए गैर-मुस्लिम आबादी को नागरिकता दी जाएगी। इसमे हिंदू, क्रिश्चियन, जैन, बौद्ध शामिल होंगे।  इससे पहले साल 2016 में भी ये बिल लाया गया था। मगर कांग्रेस सहित कई विपक्षी दलों ने इसका विरोध किया था। अब इस बिल में थोड़े से बदलाव के साथ दुबारा केंद्र सरकार इसे पेश करना चाहती है।

Narendra Modi

18 नवम्बर से लेकर 13 दिसंबर यानी 26 दिनों तक ये सत्र चलेगा। इसमे कुल 20 कार्यदिवस होंगे। इस दौरान पर्सनल डाटा प्रोटेक्शन बिल, चिटफंड अमेंडमेंट बिल, ट्रांसजेंडर प्रोटेक्शन बिल, एन्टी मेरीटाइम पायरेसी बिल जैसे लगभग 47 आइटम केंद्र सरकार पेश करेगी।

Parliament

2019 की जीत के बाद मोदी सरकार का ये दूसरा संसद सत्र होगा। पहले सत्र में ट्रिपल तलाक के खिलाफ और अनुच्छेद 370 हटाने जैसे अतिमहत्वपूर्ण बिल पास किये गए थे।