मध्य प्रदेश कांग्रेस में भीषण घमासान, अब सिंधिया ने दिग्विजय के खिलाफ हल्ला बोला

दिग्विजय सिंह के बारे में खबर है कि वह मध्यप्रदेश कांग्रेस में अपने गुट के कुछ विधायकों और मंत्रियों को लेकर खींचतान में जुटे हुए हैं। दिग्विजय सिंह की इस खींचतान से कमलनाथ और सिंधिया दोनों ही गुटों में असंतोष है।

Written by: September 4, 2019 6:12 pm

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार अपने ही विधायकों के निशानी पर आ चुकी है। मध्यप्रदेश में कांग्रेस के विधायक खुलेआम कई गुटों में बांट चुके हैं। बात अब आगे निकल चुकी है। ये गुट एक दूसरे पर खुलकर हमला कर रहे हैं और पोल खोल रहे हैं। इस बीच कमलनाथ सरकार के एक मंत्री ने दिग्विजय सिंह पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए और अब ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी उनका साथ दे दिया है।

मध्यप्रदेश के वन मंत्री उमंग सिंघार ने दिग्विजय सिंह पर शराब के ठेके और रेत के ठेके चलाने का संगीन आरोप जड़ा था। उन्होंने दिग्विजय सिंह पर ब्लैक मेलिंग और उगाही के खतरनाक आरोप भी लगाए थे।digvijay singh scindia

अब ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उनके आरोपों को हवा दे दी है। सिंधिया ने साफ कहा है कि उनके आरोपों पर ध्यान दिया जाना चाहिए। सिंधिया ने यहां तक कह दिया कि आरोप बेहद गंभीर हैं और किसी को भी सरकार में दखलअंदाजी नहीं करनी चाहिए।Rahul Kamalnath Jyotiraditya

उधर दिग्विजय सिंह के बारे में खबर है कि वह मध्यप्रदेश कांग्रेस में अपने गुट के कुछ विधायकों और मंत्रियों को लेकर खींचतान में जुटे हुए हैं। दिग्विजय सिंह की इस खींचतान से कमलनाथ और सिंधिया दोनों ही गुटों में असंतोष है। वन मंत्री उमंग सिंघार का बयान इसी असंतोष का नतीजा है।

उधर दिग्विजय सिंह के बेटे और राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि राज्य में एकमात्र पावर सेंटर कमलनाथ ही हैं। कांग्रेस बेहद ही सामान्य बहुमत के साथ मध्य प्रदेश की सरकार में काबिज है। ऐसे में कांग्रेस के भीतर की ये गुटबाजी सरकार के संकट का सबब बन सकती है।