जम्मू-कश्मीर में बारिश का कहर, नदियां खतरे के निशान से ऊपर

Avatar Written by: June 30, 2018 12:06 pm

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में पिछले दो दिनों से लगातार हो रही बारिश से नदियां, नाले और अन्य जल स्रोत उफान पर हैं, जिसके कारण कश्मीर घाटी में शुक्रवार को बाढ़ की स्थिति घोषित कर दी गई है। बाढ़ के हालात के मद्देनजर प्रशासन ने अमरनाथ यात्रा स्थगित कर दी है। कश्मीर डिविजन में सभी स्कूल भी शनिवार को बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं।

Srinagar rainfall राज्यपाल एनएन वोहरा ने राजभवन में बैठक की अध्यक्षता कर भारी बारिश के बाद कश्मीर की स्थिति पर चर्चा की। सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण के मुख्य अभियंता एम.एम. शाहनवाज ने एक बयान में कहा, ‘झेलम नदी अनंतनाग जिले के संगम में शुक्रवार शाम छह बजे 21 फुट के बाढ़ घोषणा स्तर को पार कर गई।’

Governor NN Vohra chairs emergency meeting

उन्होंने कहा, ‘दक्षिण कश्मीर की तराई में रह रहे लोग, विशेष रूप से झेलम और अन्य नदियों के किनारे रहने वाले लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है।’

कुलगाम और शोपियां इलाके में झेलम खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। कुलगाम के पास नदी पर बने दो पुल भी सैलाब के पानी में बह गए।Srinagar rainfall

श्रीनगर में भी झेलम नदी का जल स्तर लगातार तेज़ी से बढ़ रहा है। नदी में पानी बढ़ने से कई बोट्स को नुकसान पहुंचा है। भारी बारिश की वजह से जगह जगह लैंडस्लाइड भी हुआ। सबसे ज्यादा डिगडोल रामबन में पहाड़ के टुकड़े खिसक कर सड़कों पर गिरे जिससे 300 किलोमीटर लंबे श्रीनगर- जम्मू हाईवे को बंद कर दिया गया है।