एयर इंडिया को लेकर हरदीप पुरी ने दिया बड़ा बयान साथ ही कहा दिवाली तक 60% उड़ानें संभव

कोरोना संकट और लॉकडाउन की वजह से सभी एयरलाइंस को भारी नुकसान हुआ है। नागरिक उड्डयन मंत्री ने कहा कि कोरोना संकट से पहले जितनी घरेलू उड़ानों का संचालन होता था, उसका 55 से 60 फीसद तक उड़ानें दीवाली तक होने लगेगा।

Avatar Written by: July 16, 2020 7:57 pm

नई दिल्ली। कोरोना संकट और लॉकडाउन की वजह से सभी एयरलाइंस को भारी नुकसान हुआ है। ऐसे में नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेस में कहा कि कोरोना संकट से पहले जितनी घरेलू उड़ानों का संचालन होता था, उसका 55 से 60 फीसद तक उड़ानें दीवाली तक होने लगेगा।

वंदे भारत मिशन

हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि ‘वंदे भारत’ मिशन के तहत अब तक दो लाख 80 हजार लोगों को विदेशों से वापस लाया गया है। उन्होंने कहा कि दुबई और यूएई से बड़ी संख्या में भारतीय वापस आए हैं। जबकि अमेरिका से करीब 30 हजार लोग वापस लाए गए हैं।

Vande bharat Mission Airport

उन्होंने बताया कि वंदे भारत मिशन के तहत एयर फ्रांस एयरलाइन 18 जुलाई से एक अगस्त के बीच दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू से पेरिस के लिए 28 उड़ानों का संचालन करेगी। जबकि अमेरिकी एयरलाइंस की 18 उड़ानें 17 से 31 जुलाई के बीच भारत आएंगी। उन्होंने बताया कि इसके अलावा जर्मनी से भी बातचीत चल रही है।

एअर इंडिया का निजीकरण जरूरी

हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि एअर इंडिया का निजीकरण जरूरी है, और सरकार इस दिशा में काम कर रही है। मंत्री ने कहा कि विदाउट पे कर्मचारियों को लीव पर सभी एयरलाइंस कंपनियां भेज रही हैं, क्योंकि यह उनकी मजबूरी है। सरकार उस स्थिति में नहीं है कि एयरलाइंस कंपनियों को बड़ी आर्थिक मदद कर सके।

Air India

कोरोना की वजह से संकट में एअर इंडिया

वहीं एअर इंडिया के सीएमडी राजीव बंसल ने कहा कि कोरोना संकट की वजह से एयरलाइंस को भारी नुकसान हो रहा है। खर्च कम करने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं, जिसमें से एक कर्मचारियों की संख्या में कटौती भी है। उन्होंने कहा कि कंपनी अपने कुछ कर्मचारियों के पोस्ट रिटायरमेंट पर भी विचार कर रही है।