संसद में गूंजा हैदराबाद गैंगरेप का मामला, जया बच्चन बोलीं- रेप के दोषियों को जनता के बीच मिले सजा

हैदराबाद गैंगरेप कांड का मुद्दा आज संसद भवन में गूंजा। इस घटना की हर दल के सांसद निंदा कर रहे हैं। राज्यसभा में सभापति वैंकेया नायडू की मौजूदगी में सांसदों ने इस मुद्दे पर चर्चा की और पीड़िता के परिवार को जल्द से जल्द न्याय दिलाने की मांग की। राज्यसभा में सासंदों ने ऐसे जघन्य अपराधों को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाए जाने और सख्त सजा दिलाने की भी बात कही।

Written by: December 2, 2019 12:24 pm

नई दिल्ली। हैदराबाद गैंगरेप कांड का मुद्दा आज संसद भवन में गूंजा। इस घटना की हर दल के सांसद निंदा कर रहे हैं। राज्यसभा में सभापति वैंकेया नायडू की मौजूदगी में सांसदों ने इस मुद्दे पर चर्चा की और पीड़िता के परिवार को जल्द से जल्द न्याय दिलाने की मांग की। राज्यसभा में सासंदों ने ऐसे जघन्य अपराधों को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाए जाने और सख्त सजा दिलाने की भी बात कही।

Rajya Sabha Chairman M Venkaiah Naidu

समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सदस्य जया बच्चन ने कहा कि चाहे निर्भया हो या कठुआ। सरकार को उचित जवाब देना चाहिए। जिन लोगों ने ऐसा किया, उनकी सार्वजनिक तौर पर लिंचिंग करनी चाहिए। जिन पुलिसकर्मियों ने लापरवाही बरती है, उनका नाम सार्वजनिक किया जाना चाहिए और उनको शर्मिंदा करना चाहिए।

हैदराबाद की घटना पर एआईएडीएमके की सांसद विजिला सत्यनाथ ने कहा, ‘देश महिलाओं और बच्चों के लिए सुरक्षित नहीं है। इस अपराध को करने वाले चार आरोपियों को 31 दिसंबर से पहले मौत की सजा दी जानी चाहिए। एक फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाई जानी चाहिए। न्याय में देरी अन्याय होता है।’

कांग्रेस सासंद अमी याज्निक ने राज्यसभा में हैदराबाद की घटना को लेकर कहा, ‘मैं सभी प्रणालियों, न्यायपालिका, विधायी, कार्यकारी और अन्य प्रणालियों से अनुरोध करती हूं कि वे एक साथ आएं ताकि सामाजिक सुधार हो सके। इसे आपातकालीन आधार पर किया जाना चाहिए।’

वहीं राज्यसभा में कांग्रेस सांसद और नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने इस मामले उठाया। उन्होंने कहा कि कोई भी राज्य या सरकार नहीं चाहती है कि उसके राज्य में ऐसी घटना घटे। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की।

गुलाम नबी आजाद ने कहा, ”हमने बहुत कानून बनाए लेकिन कभी कभी सिर्फ कानून बनाने से ही समस्या हल नहीं होती। इस बीमारी को जड़ से खत्म करने के लिए पूरे समाज को खड़ा होना होगा।”