भारत की नजर अब पीओके पर, सुनकर परेशान हो गए हैं इमरान खान

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पीओके को लेकर गुरुवार को बड़ा बयान दिया। सेना प्रमुख ने कहा कि पीओके पर सरकार को फैसला करना है और सेना पूरी तरह से तैयार है।

Written by: September 12, 2019 3:30 pm

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में धारा 370 के हटने के बाद से अगर किसी को सबसे ज्यादा परेशान होते देखा जा रहा है तो वह पाकिस्तान है। भारत दुनिया भर में हर मंच से इस बात को कह चुका है कि जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाना भारत का आंतरिक मामला है। इसमें पाकिस्तान की दखलंदाजी का कोई मायने नहीं है। लेकिन अपनी आदत से मजबूर पाकिस्तान का व्यवहार कश्मीर के हितैषी के तौर पर सामने आ रहा है। जिसको लेकर भारत की तरफ से ही नहीं पाकिस्तान को हर मंच से खरी खोटी सुननी पड़ रही है।

IMRAN KHAN

पाकिस्तान ने इसको लेकर दुनिया भर के देशों से गुहार लगाई लेकिन उसे निराशा ही हाथ लगी है। अब पाकिस्तान की चिंता की दूसरी वजह पाक अधिकृत कश्मीर यानि पीओके है जिसको लेकर भारत अपनी तरफ से साफ कर चुका है कि वह भी भारत का अंग है और अगली बारी उसकी है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान बीते दिनों इस बात लेकर प्रेस काफ्रेंस में भी अपनी बात रख चुके हैं कि भारत पीओके में भी कुछ बड़ा करने की सोच रहा है। हालांकि पाकिस्तान की इस परेशानी पर भी दुनिया भर के देश उसे इसी बात की नसीहत देते रहे हैं कि पाकिस्तान पहले अपने यहां से प्रयोजित होने वाले आतंकवाद को बंद करे और फिर भारत के साथ इस मसले पर बातचीत कर इसका हल निकाले क्योंकि ये उन दोनों देशों का आंतरिक मामला है जिसमें कोई भी देश दखलंदाजी नहीं करेगा। जबकि भारत ने इस बात को दुनिया के हर मंच पर बड़ी मुखरता के साथ कहा है कि भारत इस मसले में किसी तीसरे देश को कष्ट नहीं देना चाहता है।

पीओके को लेकर गृहमंत्री अमित शाह से लेकर जितेंद्र सिंह, केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और सेना प्रमुख बिपिन रावत के बयान ने पाकिस्तानी हुक्मरानों की नींदें उड़ा दी है। पीओके को लेकर अमित शाह ने संसद में खड़े होकर कहा था कि जम्मू-कश्मीर से उनका मतलब केवल उस हिस्से से नहीं है जो भारत के पास है बल्कि पाक अधिकृत कश्मीर और अक्साई चीन को भी वह भारत का हिस्सा मानते हैं और वह इसके लिए जान तक दे सकते हैं। पाकिस्तान को दुनिया के हर मंच से दुत्कारे जाने के बाद ऐसा लगने लगा है कि पीओके भी शायद अब उसके हाथ से जाने वाला है। इसलिए पाकिस्तान ऐसे प्रपंच रच रहा है।

सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा ‘PoK पर सरकार करे फैसला, आर्मी पूरी तरह तैयार है’

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पीओके को लेकर गुरुवार को बड़ा बयान दिया। सेना प्रमुख ने कहा कि पीओके पर सरकार को फैसला करना है और सेना पूरी तरह से तैयार है।

Army Chief General Bipin Rawat

उन्होंने कहा, ‘अन्य संस्थाएं तो जैसा सरकार कहेगी, वैसी तैयारियां करेंगी।’ सेना की तैयारी को लेकर पूछे जाने पर बिपिन रावत ने कहा कि सेना तो हमेशा किसी भी कार्रवाई के लिए तैयार ही रहती है। बिपिन रावत ने कहा कि पीओके को लेकर सरकार के बयान से खुशी हुई है। उन्होंने कहा कि इस पर फैसला सरकार को लेना है, लेकिन हम निर्देश के आधार पर तैयार हैं।

अमित शाह बोले- पूरा कश्मीर हमारा, जान दे देंगे इसके लिए

अमित शाह ने संसद में कहा था कि जम्मू-कश्मीर, भारत का अभिन्न अंग है। जब भी मैं जम्मू-कश्मीर कहता हूं तो पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) और अक्साई चीन भी इसके अंदर आता है। क्या कांग्रेस पीओके को भारत का हिस्सा नहीं मानती है। हम इसके लिए जान दे देंगे।

लोकसभा में चर्चा के दौरान अमित शाह ने कहा कि हमारे एजेंडे में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) भी शामिल है। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी को जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा कि 1948 में कश्मीर का विलय का मामला संयुक्त राष्ट्र में पहुंचाया गया था। उन्होंने कहा कि जम्मू और कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है इसके बारे में कोई कानूनी विवाद नहीं है। उन्होंने कहा कि, “जब मैं जम्मू एंड कश्मीर बोलता हूं तो पीओके भी इसके अंदर आता है…” अमित शाह ने कहा कि वे इस बात को रिकॉर्ड में रखना चाहते हैं कि उन्होंने सदन में जब-जब जम्मू-कश्मीर बोला है तो इसमें पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर और अक्साई चीन भी इसमें शामिल है।

पीओके हमारा अगला एजेंडा: जितेंद्र सिंह

jitendra singh

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बाद अब केंद्र सरकार के अजेंडे में पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर है। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा है कि हमारा अगला अजेंडा POK को भारत का अभिन्न हिस्सा बनाना है। ऊधमपुर-कठुआ लोकसभा सीट से चुनकर आने वाले जितेंद्र सिंह ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के मुद्दे पर कहा, ‘यह केवल मेरी या मेरी पार्टी की प्रतिबद्धता नहीं है बल्कि यह 1994 में पी. वी. नरसिंह राव के नेतृत्व वाली तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा सर्वसम्मति से पारित संकल्प है। यह एक स्वीकार्य रुख है।’


प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री सिंह ने कहा कि विश्व का रुख भारत के अनुकूल है। उन्होंने कहा, ‘कुछ देश जो भारत के रुख से सहमत नहीं थे, अब वे हमारे रुख से सहमत हैं।’ सिंह ने कहा कि कश्मीर में आम आदमी मिलने वाले लाभों को लेकर खुश है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा अब पाकिस्तान से पीओके पर ही होगी बात

राजनाथ सिंह ने यह बात हरियाणा के पंचकुला में एक चुनावी रैली की शुरुआत करते हुए कही। हरियाणा चुनावों के मद्देनज़र भाजपा ने ‘जन आशीर्वाद यात्रा’ की शुरुआत की।


रक्षा मंत्री ने जो रैली में कहा है उसे उन्होंने ट्वीट भी किया। उन्होंने ट्वीट मे लिखा है कि कुछ लोग मानते हैं कि पाकिस्तान से बात होनी चाहिए मगर जब तक पाकिस्तान आतंकवाद को समर्थन देना बंद नहीं करता तब तक कोई बात नहीं होगी। अगर पाकिस्तान से बात भी होगी तो POK पर होगी।

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा- पाकिस्तान से अब सिर्फ PoK के मसले पर ही होगी बातचीत

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने प्रत्येक भारतीय के लिये सुरक्षा और देश की अखंडता को सर्वोपरि करार देते हुये मंगलवार को कहा कि पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय वार्ता अब पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के मुद्दे पर ही होगी। नायडू ने जम्मू कश्मीर में हाल ही में निर्वाचित पंच और सरपंचों के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के दौरान कहा, ”पाकिस्तान के साथ अब सिर्फ पीओके के मसले पर ही बातचीत होगी।”

पीओके पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह बोले- ‘अबकी बार, उस पार’

giriraj singh

कश्मीर मसले पर पाकिस्तान से तनाव के बीच केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने नया नारा दिया। गिरिराज सिंह ने मंगलवार को ट्वीट करते हुए लिखा, ‘जय कश्मीर जय भारत, अबकी बार उस पार।’ माना जा रहा है कि गिरिराज सिंह अपने ट्वीट में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) की बात कर रहे थे।


इससे पहले संसद में गृहमंत्री अमित शाह ने कहा था कि पीओके भी कश्मीर का हिस्सा है। इससे पहले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा था कि, ‘इमरान खान भस्मासुर है। जरुरत पड़ी तो हम उनका पिंडदान करेंगे और PoK लेकर रहेंगे।’

रामदास आठवले बोले पीओके तो भारत का है, युद्ध करके लेंगे वापस

इस मामले पर बात करते हुए केंद्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास आठवले ने कहा कि पीओके तो भारत का ही हिस्सा था, जिस पर पाकिस्तान ने अवैध तरीके से कब्जा किया है। अब हम पीओके को भारत में शामिल करने जा रहे हैं। अगर जरूरत पड़ी तो युद्ध करके पीओके को कब्जा करेंगे।

पीओके को लेकर सरकार के कदम का समर्थन करेगी कांग्रेस

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता हरीष रावत ने कहा कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है और सरकार पीओके सहित इस मसले से निपटने में जो भी कदम उठाएगी, पार्टी उसका समर्थन करेगी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के साथ अगर बातचीत होगी तो वह शिमला समझौते के तहत होगी। उन्होंने आगे कहा, ‘कोई क्या लिख रहा है, उससे हमारा कोई वास्ता नहीं है। हमारी स्पष्ट नीति है कि कश्मीर हमारा आंतरिक मामला है और कोई अगर समस्या है तो उसे शिमला समझौते के तहत बातचीत से हल किया जा सकता है।’

congress

रावत ने कहा, ‘कश्मीर पर राहुल गांधी और कांग्रेस का स्थिर रुख रहा है कि पाकिस्तान के साथ संबंधों के निपटारे में सरकार जो कुछ उचित कदम उठाती है तो हम उसका समर्थन करेंगे। पाकिस्तान भारत में दहशतगर्दी फैलाने का दोषी है। सरकार पीओके सहित कश्मीर पर जो भी कदम उठाती है, कांग्रेस उसका समर्थन करेगी। हमने बालाकोट में एयर स्ट्राइक का भी समर्थन किया था। हम राष्ट्रीय नीति पर सरकार के साथ हैं।’

पीओके को भारत में लाने के समर्थन में दिग्विजय सिंह

मोदी सरकार में मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और पार्टी महासचिव राममाधव पहले ही साफ कर चुके है कि अगला लक्ष्य पाक अधिकृत कश्मीर को भारत में लाना है और इसके लिए काम शुरू हो चुका है।

DIGVIJAY

इस बीच कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्गिजय सिंह ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि पीओके समेत पूरा कश्मीर भारत का अभिन्न अंग होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब जम्मू कश्मीर का भारत में विलय किया गया था पीओके भी उसका अंग था इसलिए वह भी भारत का हिस्सा है। जब दिग्विजय सिंह पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बयान के बारे में पूछा तो उन्होंने साफ कहा कि कश्मीर को हिंदू मुस्लिम करके नहीं देखना चाहिए।

सुब्रमण्यम स्वामी बोले पीओके को भी भारत का हिस्सा बनाना होगा

भाजपा के राज्यसभा सदस्य सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को भारत में मिलाया जाना चाहिए। उन्होंने दावा किया कि पीओके में रहने वाले लोग पाकिस्तान में नहीं रहना चाहते और भारतीय बनना चाहते हैं। स्वामी के इस बयान का चंडीगढ़ से भाजपा की लोकसभा सदस्य किरण खेर और पंजाब के पूर्व पुलिस प्रमुख सुमेध सिंह सैनी ने समर्थन किया।

पाकिस्तान की नई चाल पीओके में रैली करेंगे इमरान खान

कश्मीर मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय मंच से लेकर पूरी दुनिया में खास समर्थन नहीं मिलने के बाद अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने नया पैंतरा चला है। पाक पीएम इमरान खान ने ट्वीट किया कि वह इस शुक्रवार को पीओके की राजधानी में रैली करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय सैन्य बलों की कश्मीर में कार्रवाई के खिलाफ पूरे विश्व को संदेश देने के लिए पाक पीएम यह रैली करेंगे।


इमरान खान लगातार कश्मीर के लोगों के साथ खड़े होने का दावा कर रहे हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘शुक्रवार 13 सितंबर को मैं मुजफ्फराबाद में एक बहुत बड़े जलसे का आयोजन करने जा रहा हूं। विश्व को IOJK में भारतीय सैन्य बलों के निरंतर अतिक्रमण का संदेश देने के लिए है और कश्मीरियों को यह बताने के लिए भी पाकिस्तान उनके साथ लगातार खड़ा है।’ इस ट्वीट में जम्मू-कश्मीर के लिए पाक पीएम ने भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर (IOJK) का प्रयोग किया है। वहीं खुफिया सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार, एलओसी के पास पाकिस्तान के आतंकी कैंप फिर से सक्रिय हो गए हैं। इसके साथ ही 7 लॉन्च पैड भी तैयार किया गया है और 275 आतंकी भी ऐक्टिव हैं। जम्मू-कश्मीर में अशांति फैलाने के लिए अफगान और पश्तून सिपाही भी तैनात किए जा रहे हैं।