भारतीय वायुसेना की बढ़ी ताकत, दसॉल्ट ने वायुसेना को सौंपा पहला राफेल

भारतीय पायलटों के छोटे बैचों को फ्रांसीसी वायु सेना के विमानों के लिए प्रशिक्षित कर दिया गया है। भारतीय वायु सेना मई 2020 तक तीन अलग-अलग बैचों में 24 पायलटों को प्रशिक्षित करेगी ताकि भारतीय राफेल लड़ाकू जेट को उड़ाया जा सके।

Written by: September 20, 2019 7:51 pm

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना को अपना पहला राफेल विमान मिल गया है। गुरुवार को फ्रांस में दसॉ एविएशन ने वायुसेना को विमान सौंपा। इस दौरान डेप्युटी चीफ एयर मार्शल वीआर चौधरी ने लगभग 1 घंटे राफेल में उड़ान भी भरी।

sukhoi and rafale 1

पहले ही भारतीय पायलटों को किया गया प्रशिक्षित


भारतीय पायलटों के छोटे बैचों को फ्रांसीसी वायु सेना के विमानों के लिए प्रशिक्षित कर दिया गया है। भारतीय वायु सेना मई 2020 तक तीन अलग-अलग बैचों में 24 पायलटों को प्रशिक्षित करेगी ताकि भारतीय राफेल लड़ाकू जेट को उड़ाया जा सके।

rafale

सितंबर 2016 भारत ने फ्रांसीसी सरकार और डसॉल्ट एविएशन के साथ 36 लड़ाकू राफेल विमानों को लेकर सौदा किया था।

यूपीए सरकार में नहीं हो पाया सौदा

modi amit shah

यूपीए सरकार के दौरान इस पर समझौता नहीं हो पाया, क्योंकि खासकर टेक्नोलॉजी ट्रांसफर के मामले में दोनों पक्षों में गतिरोध बन गया था।

Narendra Modi And Amit Shah

इसके बाद साल 2014 में जब नरेंद्र मोदी सरकार सत्ता में आई तो उन्होंने इस दिशा में काम शुरू किया और इसके बाद पीएम मोदी की फ्रांस यात्रा के दौरान इस डील को साइन किया गया।