विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान का नाम ‘वीर चक्र’ के लिए भारतीय वायुसेना ने किया प्रस्तावित

पाकिस्तान की हिरासत से रिहा होने के बाद बिंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान स्वदेश लौटे तो उनको श्रीनगर एयरबेस में फिर से बहाल कर लिया गया। लेकिन अब सुरक्षा का हवाला देकर उनका वहां से तबादला कर दिया गया है।

Written by Newsroom Staff April 20, 2019 9:51 pm

नई दिल्ली। पाकिस्तान की हिरासत से रिहा होने के बाद बिंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान स्वदेश लौटे तो उनको श्रीनगर एयरबेस में फिर से बहाल कर लिया गया। लेकिन अब सुरक्षा का हवाला देकर उनका वहां से तबादला कर दिया गया है।

भारतीय वायुसेना ने विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान की पोस्टिंग श्रीनगर एयरबेस से बाहर कर दी है। सूत्रों के मुताबिक सरकार ने यह कदम कमांडर की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए लिया है। सूत्रों के मुताबिक कमांडर अभिनंदन के पोस्टिंग ऑर्डर आ चुके हैं। श्रीनगर से बाहर पश्चिमी क्षेत्र में किसी एयरबेस पर अभिनंदन की पोस्टिंग होगी। एक बार फिट हो जाने के बाद उन्हें विमान उड़ाने की अनुमति मिल जाएगी।


27 फरवरी को अभिनंदन लड़ाकू विमान मिग 21 बिसोन को उड़ाकर पाकिस्तान ले गए थे। पाकिस्तानी वायुसेना ने उन्हें हिरासत में ले लिया था। विमान पाकिस्तानी क्षेत्र में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। हालांकि दो दिन बाद ही पाकिस्तान ने उन्हें रिहा कर दिया था। अब जो खबर आ रही है उसकी मानें तो भारतीय वायुसेना ने युद्धकालीन वीरता पुरस्कार ‘वीर चक्र’ के लिए उनका नाम का प्रस्ताव किया है।


अभिनंदन वर्थमान के लिए ‘वीर चक्र’ की सिफारिश एयरफोर्स मुख्यालय पहुंच गई है, वहां तय किया जाएगा और सरकार द्वारा मंजूरी दी जाएगी। फिर अगर वहां से बात आगे बढ़ती है तो ‘वीर चक्र’ या जो भी मेडल तय होगा उसकी घोषणा 15 अगस्त को की जाएगी।

अभिनंदन ने उस वक्त दिया था अद्भुत बुद्धिमानी का परिचय

पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों का पीछा करने वाले भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान पाक सेना की गिरफ्त में आने से पहले अपने गजब के साहस और हालात को भांपते हुए अद्भुत बुद्धिमानी का परिचय दिया था। पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों का पीछा करने के दौरान अभिनंदन का मिग-21 पीओके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। हालांकि, अभिनंदन पैराशूट के जरिए सुरक्षित जमीन पर उतर गए थे।

पीओके के दुश्मनों के बीच खुद को घिरे पाकर अभिनंदन ने जिस बुद्धिमानी का परिचय दिया वह अद्भुत है। उनके पास भारतीय वायु सेना के ऑपरेशन से जुड़ीं अहम जानकारियां थीं और ये सूचनाएं यदि पाकिस्तानी सेना के हाथ लग जातीं तो देश को सामरिक रूप से नुकसान हो सकता था।

Facebook Comments