भारतीय सेना ने मार गिराए 10 पाक सैनिक, दो चौकियां कर दी तबाह, भाग खड़े हुए पाक सैनिक

भारतीय सेना की कार्रवाई में चार से पांच पाकिस्तानी सैनिक मारे गए हैं। इनमें दो मेजर रैंक के अधिकारी बताए जा रहे हैं।

Written by: December 28, 2019 3:43 pm

नई दिल्ली। भारत-पाक सीमा पर नियंत्रण रेखा के साथ लगते कुछ इलाकों में शुक्रवार को युद्ध जैसी स्थिति पैदा हो गई। शुक्रवार सुबह पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पुंछ, नौशहरा, अखनूर और उत्तरी कश्मीर के टंगडार और केरन सेक्टर में भारी गोलाबारी की। वहीं, जब भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई की तो टंगडार के सामने एथमुकाम और सुंदरबनी के सामने वाले इलाके में तैनात पाकिस्तानी सैनिक अपनी दो चौकियां छोड़कर भाग गए।  ceasfire indian armyभारतीय सेना की कार्रवाई में चार से पांच पाकिस्तानी सैनिक मारे गए हैं। इनमें दो मेजर रैंक के अधिकारी बताए जा रहे हैं। बीते 36 घंटों में पाकिस्तानी सेना के करीब 10 सैनिकों के मारे जाने और एक दर्जन के जख्मी होने की सूचना है। ऐसे में पाकिस्तान ने अपने जवानों का मनोबल बनाए रखने के लिए गुलाम कश्मीर में अपनी रिजर्व डिवीजनों को भी मूव करना शुरू कर दिया है। वहीं, जम्मू कश्मीर प्रशासन ने पाकिस्तानी गोलाबारी से पैदा होने वाली किसी भी स्थिति में सीमावर्ती नागरिकों की सुरक्षित निकालने के लिए पूरी तैयारी कर ली है।
ceasfire indian army

शुक्रवार सुबह पाकिस्तानी सैनिकों ने अपनी राजा रानी चौकियों से पुंछ के शाहपुर किरनी सेक्टर में गोलाबारी की। सैन्य सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने मोर्टार व तोपखाने का इस्तेमाल किया। वहीं, भारतीय जवानों की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना की दो चौकी को भारी नुकसान पहुंचा है। बताया जा रहा है कि इस चौकी में तैनात दो पाकिस्तानी सैनिक मारे गए हैं और पांच अन्य जख्मी हुए हैं।

पाकिस्तान को पहुंचा है भारी नुकसान

इस हमले में पाकिस्तान के कब्जे कश्मीर (पीओके) के बट्टल में दो चौकियां तबाह हो गईं, जबकि कई अन्य को भारी नुकसान पहुंचा है। बृहस्पतिवार को भी सेना ने उड़ी सेक्टर में पाकिस्तान के दो सैनिकों को मार गिराया था। बीते दो दिन में पाकिस्तान के 12 सैनिक मारे गए हैं।

सूत्रों के अनुसार सीमा पार मरने वाले सैनिकों की संख्या ज्यादा भी हो सकती है। बृहस्पतिवार रात कार्रवाई के बाद शुक्रवार सुबह पाकिस्तानी सेना की दर्जनों एंबुलेंस को बट्टल में सैनिकों के शव ले जाते देखा गया।

अनुच्छेद-370 हटने से चिढ़े पाकिस्तान ने इस साल 3200 बार किया सीज़फायर उल्लंघन

इस साल अब तक पाकिस्तान की तरफ से करीब 3 हजार से ज्यादा बार युद्धविराम का उल्लंघन कर चुका है। पाकिस्तान की तरफ से ये फायरिंग एलओसी पर आतंकियों की घुसपैठ और बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) की कार्रवाई के इरादे से की जाती है, लेकिन सैन्य सूत्रों ने साफ कर दिया कि पाकिस्तानी सेना को किसी भी कीमत पर फायदा नहीं उठाने दिया जाएगा।Indian Army

पिछले वर्ष गोलाबारी की लगभग 1,629 घटनाएं हुई थीं। सूत्रों के अनुसार, इस साल दिसंबर में ही अब तक 329 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन हुआ, जो पिछले साल के इसी महीने में दर्ज किए गए 175 मामलों से लगभग दोगुना है।indian army

जम्मू-कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद पाकिस्तान ने संघर्ष विराम उल्लंघन बढ़ा दिया है। सूत्रों के अनुसार, अगस्त में 307, सितंबर में 292, अक्टूबर में 351 और नवंबर में 304 मामले सामने आए। इससे पहले जनवरी में 203 घटनाएं, फरवरी में 215, मार्च में 267, अप्रैल में 234 , मई में 22, जून में 181 और जुलाई में 296 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन हुआ।