श्रीनगर से शेर ए कश्मीर स्टेडियम में आजादी का जश्न देखकर उड़ गए “आजादी गैंग” के होश

स्टेडियम में रंगारंग कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया। लोग अपने हाथों में तिरंगा झंडा लेकर कार्यक्रम में मौजूद रहे। अलगाववादियों को उम्मीद थी कि स्थानीय लोग आजादी के इस कार्यक्रम का विरोध करेंगे मगर स्टेडियम में आई भीड़ ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

Avatar Written by: August 15, 2019 1:06 pm

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर मे आयोजित 15 अगस्त के समारोह ने अलगाववादियों व आजादी गैंग के रहनुमाओं के होश फाख्ता कर दिए। अनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद आजादी का जश्न मनाने आई भीड़ ने उन्हें हैरान कर दिया। अलगाववादी और उनके समर्थक घाटी में जिस लॉक डाउन का रोना रो रहे थे, उसे भी आजादी के जश्न ने आईना दिखा दिया।

श्रीनगर के शेर ए कश्मीर स्टेडियम में राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने इस कार्यक्रम की अध्यक्षता की। उन्होंने लोगों की भारी भीड़ के बीच देश भक्ति और विकास पर भाषण दिया। उन्होंने कहा, “मैं जम्म-कश्मीर के लोगों से यह कहना चाहता हं कि आपकी पहचान खतरे में नही है। इससे कोई छेड़छाड़ नही की गई है। भारत का संविधान हर राज्य की स्थानीयता को फलने-फूलने का मौका देता है।” राज्यपाल मलिक ने कश्मीरी पंडितों की बात भी उठाई।

 

उन्होंने कहा कि सरकार कश्मीरी पंडितों की सुरक्षित वापसी के लिए प्रतिबद्ध है। घाटी की सुरक्षा व्यवस्था की पीठ थपथपाते हुए उन्होंने यह भी कहा कि सुरक्षा बलों की चुस्ती ने आतंकवाद की कमर तोड़ दी है।

इस बीच स्टेडियम में रंगारंग कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया। लोग अपने हाथों में तिरंगा झंडा लेकर कार्यक्रम में मौजूद रहे। अलगाववादियों को उम्मीद थी कि स्थानीय लोग आजादी के इस कार्यक्रम का विरोध करेंगे मगर स्टेडियम में आई भीड़ ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया। एनएसए अजित डोभाल भी आजादी के इस जश्न का हिस्सा रहे।

Support Newsroompost
Support Newsroompost