कमलनाथ के मंत्री के बिगड़े बोल कहा- ‘मोदी-शाह के पैर धोकर पानी भी पिएं तो आपत्ति नहीं’

ज्ञात हो कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 को हटाए जाने के फैसले को शिवराज ने पंडित जवाहर लाल नेहरू की गलती को सुधारने वाला कदम बताया था।

Written by Newsroom Staff August 13, 2019 4:51 pm

भोपाल। जम्मू एवं कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाए जाने के फैसले के बाद मध्य प्रदेश (मप्र) के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की पूजा करने संबंधी बयान के बाद अब राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने विवादित बयान दिया है।

उन्होंने कहा कि मोदी-शाह की पूजा तो क्या उनके पैर धोकर पानी भी पियो तो भी हमें कोई आपत्ति नहीं है। पटवारी ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, “शिवराज जी, आप भाजपा में अपनी साख खत्म होने के डर से उसे बचाने के लिए मोदी-शाह की पूजा तो क्या उनके पैर धोके पानी पियो तो भी हमें कत्तई आपत्ति नहीं। मगर देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू पर टिप्पणी, बार-बार टिप्पणी आपके मानसिक दिवालियापन को दर्शा रही है।”


पटवारी ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “मप्र की सत्ता से बेदखल होने के बाद भाजपा में अपना अस्तित्व बचाने के लिए मोदी-शाह की चापलूसी में मशगूल शिवराज जी मप्र की मर्यादा का ख्याल रखें। आप 13 साल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। मप्र की जनता को पहले एहसास था कि मुख्यमंत्री चुना, लेकिन क्या पता था कि चापलूस चुना”

article 370
ज्ञात हो कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 को हटाए जाने के फैसले को शिवराज ने पंडित जवाहर लाल नेहरू की गलती को सुधारने वाला कदम बताया था। साथ ही उन्होंने कहा था कि पहले तो वह मोदी और अमित शाह को अपना नेता मानते थे और श्रद्घा की ²ष्टि से उन्हें देखते थे। मगर इस कदम के कारण अब वह उनकी पूजा करते हैं।