जेएनयू छात्र शरजील इमाम का राष्ट्रविरोधी बयान, असम को भारत से अलग करने की जताई इच्छा

शाहनी बाग में महीने भर से ज्यादा समय से चल रहे सीएए विरोधी प्रदर्शन के मास्टमाइंड शरजील इमाम ने बड़ा बेतुका बयान दिया है।

Written by: January 25, 2020 11:31 am

नई दिल्ली। शाहनी बाग में महीने भर से ज्यादा समय से चल रहे सीएए विरोधी प्रदर्शन के मास्टमाइंड शरजील इमाम ने बड़ा बेतुका बयान दिया है। उसने असम को भारत से अलग करने की प्रतिबद्धता जताई है। यह शरजील की तरफ से दिया गया राष्ट्रविरोध बयान है जिसकी वजह से अब माहौल गरम हो गया है।Sharjeel Imam

नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ भड़काऊ बयानबाजी और हिंसक विरोध प्रदर्शनों के बीच शरजील इमाम का एक बेहद विवादित विडियो सामने आया है। इस विडियो में जिस लहजे का प्रयोग किया गया है, वह हमारे संघीय ढांचे पर हमला है। एक ऐसा विडियो जो अलगाववादी और विभाजनकारी एजेंडे को उजागर करता है। इस वीडियो में भारतीय अदालतों पर भी भद्दा कमेंट किया गया है।


‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ और आजादी के नारों पर मचे घमासान के बीच जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट शरजिल इमाम के इस विडियो में पूर्वोत्तर और असम को भारत के नक्शे से मिटाने का घृणित मंसूबा सामने आया है। यह विडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। वायरल विडियो में जेएनयू छात्र शरजिल इमाम कहता है कि, ‘हमारे पास संगठित लोग हों तो हम असम से हिंदुस्तान को हमेशा के लिए अलग कर सकते हैं। परमानेंटली नहीं तो एक-दो महीने के लिए असम को हिंदुस्तान से कट कर ही सकते हैं। रेलवे ट्रैक पर इतना मलबा डालो कि उनको एक महीना हटाने में लगेगा…जाना हो तो जाएं एयरफोर्स से। असम को काटना हमारी जिम्मेदारी है।’


विडियो में शरजिल बेहद भड़काऊ भाषा का प्रयोग करते हुए कह रहा है कि, ‘असम और इंडिया कटकर अलग हो जाए, तभी वह हमारी बात सुनेंगे। असम में मुसलमानों का क्या हाल है, आपको पता है क्या? वहां एनआरसी लागू हो गया है। मुसलमान डिटेंशन कैंप में डाले जा रहे हैं…6-8 महीनों में पता चलेगा कि सारे बंगालियों को मार दिया गया वहां… अगर हमें असम की मदद करनी है तो हमें असम का रास्ता बंद करना होगा।’