पाक की नई चाल, करतारपुर कॉरिडोर उद्घाटन के लिए मनमोहन सिंह को न्योता, पीएम मोदी को नहीं

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक वीडियो संदेश में बताया कि पाकिस्तान ने करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में हिस्सा लेने के लिए मनमोहन सिंह को आमंत्रित करने का फैसला किया है।

Written by: September 30, 2019 3:51 pm

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए से बौखलाए पाकिस्तान ने करतारपुर कॉरिडोर के बहाने अब एक नई चाल चली है। पाकिस्तान सरकार ने दावा किया वह कॉरिडोर के उद्घाटन के लिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को न्योता देगी। वहीं पाकिस्तान सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निमंत्रण नहीं देगी। बता दें कि भारतीय सिख तीर्थयात्रियों के लिए करतारपुर कॉरिडोर 9 नवंबर को खोला जाएगा।

manmohan singh and narendra modi

यह जानकारी के पाक के विदेश शाह महमूद कुरैशी ने दी। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक वीडियो संदेश में बताया कि पाकिस्तान ने करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में हिस्सा लेने के लिए मनमोहन सिंह को आमंत्रित करने का फैसला किया है।


उन्होंने कहा, “करतारपुर गलियारा एक बेहद अहम परियोजना है। इसमें प्रधानमंत्री इमरान खान निजी स्तर पर दिलचस्पी ले रहे हैं। हमने सलाह-मशविरे के बाद भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को गलियारे के उद्घाटन समारोह के लिए आमंत्रित करने का फैसला किया है। मैं विदेश मंत्री की हैसियत से मनमोहन सिंह साहब को इस समारोह में हिस्सा लेने की दावत दे रहा हूं।”

कुरैशी ने कहा कि पूर्व भारतीय प्रधानमंत्री को औपचारिक रूप से भी निमंत्रण भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि धार्मिक रूप से भी इस न्योते का अर्थ है क्योंकि मनमोहन सिंह का संबंध सिख समुदाय से है। उन्होंने सिख समुदाय को भी निमंत्रित किया कि वह इस पवित्र अवसर पर होने वाले आयोजन में शामिल हो। पाकिस्तान ने पहले से कहा है कि बाबा गुरु नानक के 550वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर नौ नवंबर को इस गलियारे को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया जाएगा।

kartarpur corridor
यह गलियारा भारतीय क्षेत्र से करतारपुर साहिब गुरुद्वारे को जोड़ेगा जो पाकिस्तान के नरवाल जिले में भारतीय पंजाब के गुरदासपुर स्थित सीमा से कुछ ही दूर स्थित है। इसी गुरुद्वारे में बाबा गुरु नानक ने अपने जीवन के अंतिम क्षण बिताए थे। इस वजह से इसे बेहद पवित्र माना जाता है।