370 हटने के बाद कश्मीर का पहला इम्तिहान आज, जुमे की नमाज पर चौकन्नी नज़र

हाल ही में उनका एक वीडियो सामने आया था जिसमे वे शोपियां जिले में कश्मीरियों से बात करते नजर आए थे। मगर कश्मीर में शांति बहाली की कोशिशों का असली इम्तिहान आज है। आज जुमे की नमाज का दिन है। प्रशासन हालात सामान्य होने की सूरत में नमाज के लिए ढील दे सकता है।

Avatar Written by: August 9, 2019 11:11 am

नई दिल्ली। कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से घाटी में स्थितियां सामान्य करने की कोशिश लगातार जारी है। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल खुद कश्मीर पहुंचे हुए हैं। हाल ही में उनका एक वीडियो सामने आया था जिसमे वे शोपियां जिले में कश्मीरियों से बात करते नजर आए थे। मगर कश्मीर में शांति बहाली की कोशिशों का असली इम्तिहान आज है। आज जुमे की नमाज का दिन है। प्रशासन हालात सामान्य होने की सूरत में नमाज के लिए ढील दे सकता है। मगर अंदेशा इस बात का भी है कि पत्थरबाज इस मौके का फायदा उठाकर उपद्रव मचा सकते हैं।

श्रीनगर के डाउनटाउन में स्थित जामिया मस्जिद में हर शुक्रवार जुमे की नमाज अदा होती आई है। मौलाना मीरवाइज उमर फारूक खुद यहां पर नमाज़ पढ़वाते हैं। मगर फिलहाल वे अगले आदेश तक अपने घर पर ही नजरबंद हैं। इसके बावजूद प्रशासन कोशिश में है कि हालात सही रहने की सूरत में स्थानीय लोगों को नमाज पढ़ने की इजाजत दी जाए।

मगर चिंता की बात इस इलाके में होने वाला पथराव है। यहां हर शुक्रवार जुमे की नमाज के बाद सुरक्षाबलों पर जमकर पत्थर फेंकने का दस्तूर चला आ रहा है। इतना ही नहीं बल्कि यहां आईएसआईएस के झंडे भी लहराए जाते हैं। पाकिस्तान समर्थक पोस्टर भी लहराए जाते रहे हैं। इसी डाउनटाउन में नमाज के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारी डीएसपी मोहम्मद अयूब की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी।

STONE PELTERS

ऐसे में सुरक्षाबल चौकन्नी निगाह बनाए हुए हैं। जुमे की नमाज के बाद कश्मीर में हालात को भड़काने की कोशिश भी हो सकती है। यही वजह है प्रशासन हर कदम फूंक-फूंक कर रख रहा है।