केजरीवाल हो चुके हैं बेनकाब, दिल्ली जल्द होगी उनसे मुक्त: बग्गा

Avatar Written by: March 23, 2017 8:14 pm

दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के नवनियुक्त प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने अरविंद केजरीवाल पर करारा प्रहार किया है। उनका कहना है कि केजरीवाल की राजनीति बेनकाब हो गई है। उन्होंने कहा कि वायदे पूरे करने को लेकर केजरीवाल सरकार के दावे झूठे साबित हुए हैं। बग्गा ने कहा कि केजरीवाल ने जनता का विश्वास खो दिया है और पंजाब और गोवा के चुनाव नतीजों ने इसे साबित भी किया है।

bagga-modi

न्यूजरूमपोस्ट से बातचीत में बग्गा ने कहा कि दिल्ली अब केजरीवाल मुक्त हो जाएगी और एमसीडी चुनाव से इसकी शुरुआत होगी। भाजपा के प्रवक्ता का कहना था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भ्रष्टाचार विरोधी एजेंडे को पूरी जनता का विश्वास हासिल है। अपने इस साक्षात्कार में बग्गा ने कई अहम मुददों पर राय रखी।

न्यूजरूमपोस्ट: दिल्ली नगर निगम चुनावों में भाजपा किन मुद्दों के साथ उतर रही है?

तजिंदर पाल सिंह बग्गा: ढाई साल पहले केजरीवाल सरकार दिल्ली में आई। वाईफाई, 20 कॉलेज, महिला सुरक्षा के लिए कमांडो, 500 स्कूल जैसे वायदे इस सरकार ने किए थे। लेकिन इनमें से कोई भी पूरे नहीं हुए। ऐसे में एमसीडी चुनावों में जनता को हम यही बताएंगे कि कैसे केजरीवाल सरकार ने वायदों को लेकर झूठ बोला था। दूसरा हमने जो एमसीडी में काम किए उन्हें लेकर भी जनता के बीच जाएंगे।

न्यूजरूमपोस्ट: तो क्या एमसीडी चुनाव में केजरीवाल सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर होगी?

तजिंदर पाल सिंह बग्गा: दरअसल ऐसा है कि पिछले छह आठ माह में जितने चुनाव हुए सभी में भाजपा जीती। मोदी सरकार के फैसलों से लोग प्रभावित हैं। यह हो सकता है कि नोटबंदी से कुछ परेशानी लोगों को हुई लेकिन लोगों ने देखा कि मोदी के भ्रष्टाचार विरोधी एजेंडे में नीयत की खोट नहीं है। सारा विपक्ष एकजुट होकर उनका विरोध कर रहा है। ऐसे में देश में जितने भी चुनाव हुए उनमें जनता ने भाजपा को जिताया। चाहे वह चंडीगढ़ के चुनाव हों या फरीदाबाद के या फिर चार राज्यों और मुंबई के। एक तरफ जहां केजरीवाल सौ सीटों का दावा करते रहे वहीं पंजाब में उनकी सिर्फ 22 सीटें आईं और इसका भी जश्न पहले से ही शुरू कर दिया था। गोवा में 39 सीटों पर केजरीवाल की पार्टी की जमानत जब्त हुई। बात ऐसी है कि गलत वायदे करके केजरीवाल एक बार तो जीत गए लेकिन अब जनता ने बता दिया कि हम झूठ में आने वाले नहीं हैं। केजरीवाल अब पूरी तरह बेनकाब हो गए हैं। केजरीवाल कभी प्रधानमंत्री मोदी तो कभी एलजी जैसों पर सिर्फ इल्जाम लगाकर राजनीति करते रहे हैं। अब हम कांग्रेस मुक्त भारत की तर्ज पर केजरीवाल मुक्त दिल्ली करेंगे। हम दिल्ली में भी दो तिहाई बहुमत से आऐंगे।

न्यूजरूमपोस्ट: केजरीवाल मुक्त दिल्ली के लिए तो विधानसभा चुनाव तक इंतजार करना होगा। अभी के एमसीडी चुनावों में क्या रणनीति है?

तजिंदर पाल सिंह बग्गा: दरअसल केजरीवाल मुक्त दिल्ली की प्रक्रिया एमसीडी चुनावों से शुरू हो जाएगी। केजरीवाल दिल्ली में बड़ा बहुमत लेकर आए और अगर एमसीडी में कुछ नहीं ला पाते हैं तो जाहिर तौर पर इसकी शुरुआत तो हो ही जाएगी।

आगे जानें केजरीवाल के दावों की इस तरह खुली पोल

न्यूजरूमपोस्ट: क्या एमसीडी चुनाव भी मोदी लहर से ही जीतने की तैयारी है?

तजिंदर पाल सिंह बग्गा: पीएम मोदी और अमित शाह हमारे नेता हैं। उनका जनता से बेहद ही जुड़ाव है। दिल्ली भाजपा प्रमुख मनोज तिवारी खुद झुग्गियों में रह रहे हैं और वहां की समस्याएं समझ रहे हैंं मोदी और शाह के नेतृत्व में लोगों को विश्वास है। यही वजह है कि हम चुनाव जीत रहे हैं। हमें सभी सूबों में जीत मिली है। जनता का वैसा ही विश्वास मिलता रहेगा तो हम जीतेंगे। भाजपा को असम, यूपी, उत्तराखंड आदि कई सूबों में जनता का विश्वास हासिल हुआ है।

Arvind kejriwal

न्यूजरूमपोस्ट: केजरीवाल भी जनता के पास जो कहा सो किया नारे के साथ जा रहे हैं। क्या इसका प्रभाव जनता पर होगा?

तजिंदर पाल सिंह बग्गा: अगर जनता को उन पर विश्वास करना होता तो गोवा और पंजाब में उन्हें हराती ही नहीं। आपने कुछ नहीं किया और 526 करोड़ रुपये विज्ञापनों पर खर्च कर दिए। जो काम करते हैं उन्हें विज्ञापनों में खर्च नहीं करना पड़ता है। केजरीवाल कभी गवर्नेंस के मुददे पर ट्वीट नहीं करते हैं। केजरीवाल ने कुछ किया ही नहीं तो ट्वीट क्या करें। ट्वीट सिर्फ तोहमत मढ़ने के लिए करते हैं। इस तरह से केजरीवाल सिर्फ ब्लेमगेम की राजनीति करते हैं। इसलिए दो राज्यों में बुरा हाल हुआ।

न्यूजरूमपोस्ट: एमसीडी में भाजपा नए चेहरों को टिकट दे रही है। क्या यह एंटी इनकंबेंसी से निपटने के लिए हो रहा है?

तजिंदर पाल सिंह बग्गा: ऐसा नहीं है। उदाहरण के तौर पर जो सीनियर हो गए हैं तो वे खुद ही टिकट के लिए आवेदन नहीं कर रहे हैं। हमे पहले पांच हजार बायोडाटा मिले थे जो कल रात तक 35 हजार हो गये। हर किसी को टिकट नहीं दे सकते हैं। इस बार युवाओं को लगा कि उन्हें टिकट मिल सकती है। पार्टी ने कहा कि अगर युवा राजनीति में न भी हों लेकिन समाज के लिए कुछ किया हो तो वह भी उम्मीदवारी के लिए आवदेन कर सकते हैं। पहली बार यह चर्चा होगी कि जो राजनीति में नहीं लेकिन उन्होंने समाज में कुछ काम किया तो उन्हें टिकट दी जाएगी। युवा चेहरों को पार्टी टिकट दे रही है इस बार।

न्यूजरूमपोस्ट: आम आदमी पार्टी ने मोहल्ला क्लीनिक को काफी प्रचारित किया है। क्या इसका फायदा पार्टी को मिलेगा?

तजिंदर पाल सिंह बग्गा: मोहल्ला क्लीनिक को लेकर सिर्फ शोर मचाया जा रहा है। असली में हुआ कुछ नहीं है। एक न्यूज चैनल का जाफराबाद क्लीनिक का वीडियो मैंने ट्वीट किया था कि वहां बुरा हाल है। क्लीनिक में लाइट नहीं है और डाक्टर और हेल्पर एक ही टॉर्च से मरीजों को चेक कर रहे हैं। वहीं डॉक्टर खुद कह रहे हैं कि क्लीनिक पर दवाई नहीं है। वहीं आप सरकार का डॉक्टरों के साथ भुगतान को लेकर भी विवाद चल रहा है। दवाइयों के लिए पैसा नहीं दिया जा रहा है। केजरीवाल विज्ञापनों पर जो खर्च कर रहे हैं अगर क्लीनिक पर कर रहे होते तो कुछ और बात होती।

आगे आम आदमी पार्टी के चंदे को लेकर इस तरह खुली पोल

न्यूजरूमपोस्ट: ताजा घटनाक्रम के तहत आप विधायक जितेंद्र सिंह तोमर की कानूनी की डिग्री रद्द कर दी गई है। आप की प्रतिक्रिया?

तजिंदर पाल सिंह बग्गा: यह तो केजरीवाल के मुंह पर भी तमाचा है। केरीवाल गारंटी लेते थे कि उनके विधायक गलत नहीं हो सकते। अब तो तोमर को आप से निकाल देना चाहिए था। अभी देखते हैं कि उन्हें केजरीवाल हटाते हैं या फिर बेशर्मी से फिर बचाव करते रहते हैं।

kejriwal-muffler

न्यूजरूमपोस्ट: आम आदमी पार्टी के चंदे को लेकर विवाद हैं। आपका क्या कहना है इस पर?

तजिंदर पाल सिंह बग्गा: चुनाव आयोग को इसकी शिकायत की गई है। आप पार्टी के चंदे में गड़बड़ियां पाई गईं हैं। इस संबंध में ईडी ने नोटिस भी भेजा हुआ है। जांच चल रही है। अगर सबकुछ सही होता तो आप अपनी वेबसाईट से चंदा दाताओं की सूची क्यों हटाती। केजरीवाल कहते थे कि हमारी सूची साईट पर बनी रहेगी। अब तो उनके ही लोग चंदा रोको अभियान चला रहे हैं।

न्यूजरूमपोस्ट: योगी आदित्यनाथ को उत्तरप्रदेश का मुख्यमंत्री बनाए जाने पर आपकी क्या प्रतिक्रिया है?

तजिंदर पाल सिंह बग्गा: येागी आदित्यनाथ काफी मजबूत उम्मीदवार थे। और उनका बडा नाम था। उनका रिपोर्ट कार्ड सांसद के तौर पर अच्छा है। हिंदू और मुसलिमों को लेकर भी उनका काम अच्छा रहा। उन्होंने गोरखपुर में एक भी दंगा नहीं होने दिया। सारा यूपी चाहता है कि गोरखपुर में जो विकास का काम उन्होंने किया वह सारे सूबे में हो। योगीजी ने काम भी अच्छा शुरू किया है। कल्तखानों पर रोक लगाने का काम शुरू हो गया है। छेड़छाड़ पर काबू किया जा रहा है। अधिकारियों को समय पर आने के लिए कहा गया है। पान मसाला और गुटखा पर बैन लगा दिया गया है। चार दिन ही हुए हैं और काम करना भी शुरू किया है। यह काफी सराहनीय है।