जो गांधी जी को माने वह ‘कुबुद्धि’, मध्य प्रदेश की मॉडल बुक का कारनामा

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोडसे को देशभक्त बताने के बाद अब मध्य प्रदेश के शिक्षा विभाग ने गांधी के नाम के साथ एक निंदनीय विशेषण जोड़ दिया है। मध्य प्रदेश के शिक्षा विभाग का एक हैरान करने वाला कारनामा सामने आया है।

Written by: December 1, 2019 4:02 pm

नई दिल्ली। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोडसे को देशभक्त बताने के बाद अब मध्य प्रदेश के शिक्षा विभाग ने गांधी के नाम के साथ एक निंदनीय विशेषण जोड़ दिया है। मध्य प्रदेश के शिक्षा विभाग का एक हैरान करने वाला कारनामा सामने आया है। राज्य के शिक्षा विभाग ने 10वीं के छात्रों के लिए जो मॉडल बुक तैयार की है उसमें गांधीजी के नाम पर बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी की गई है। इस बुक के टेस्ट पेपर में गांधीजी का अनुसरण करने वाले को ‘कुबुद्धि’ लिखा गया है।

kamalnath

ध्यान देने वाली बात है कि यह वही मॉडल बुक है जिसका इस्तेमाल पिछले कई महीनों से स्टूडेंट्स को पढ़ाने के लिए किया जा रहा है। इस किताब की जिस लाइन पर विवाद है, उसका अर्थ है, ‘कुबुद्धि बेहद अवगुणी और शराबी था और गांधीजी जैसा जीवन जीता था।’

Mahatma Gandhi

यह मामला सामने आने के बाद जांच शुरू कर दी गई  है। अफसरों का दावा है कि ये सब प्रिंटिंग में हुई गलती का नतीजा है। उनके मुताबिक जहां गांधीजी लिखा है, वहां गैम्बलिंग लिखा होना था। इस मुद्दे पर राजनीति भी तेज हो गई है।

MP

राज्य के शिक्षा मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कहा है कि वो इस मामले में जांच करवाएंगे और दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी। वहीं बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा है कि कांग्रेस गांधी जी के नाम का सिर्फ लाभ लेना चाहती है, उनके आदर्शों पर चलने या उनके प्रचार का कोई भी काम इस सरकार ने नहीं किया है। फिलहाल गांधी के नाम पर मध्यप्रदेश में सियासी कोहराम मचता जा रहा है।