लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस को एक और झटका, पूर्व सांसद अरविंद शर्मा भाजपा में हुए शामिल

अरविंतद शर्मा करनाल और सोनीपत लोकसभा सीटों से सांसद रह चुके हैं। वह करनाल से कांग्रेस सांसद रहे और सोनीपत से निर्दलीय प्रत्यााशी के रूप में चुनाव जीते थे। बा

Written by Newsroom Staff March 15, 2019 4:10 pm

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के ठीक पहले कांग्रेस को एक और बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस के पूर्व सांसद अरविंद शर्मा शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की मौजूदगी में अरविंद शर्मा भाजपा में शामिल हुए। बता दें, अरविंदर शर्मा करनाल से सांसद रह चुके हैं।

अर‍विंद शर्मा करनाल और सोनीपत लोकसभा सीटों से सांसद रह चुके हैं। वह करनाल से कांग्रेस सांसद रहे और सोनीपत से निर्दलीय प्रत्‍याशी के रूप में चुनाव जीते थे। बाद में उन्‍होंने कांग्रेस से इस्‍तीफा दे दिया था और बहुजन समाज पार्टी में शामिल हाे गए थे। वह 2005 और 2009 में करनाल से कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा चुनाव जीते। इससे पहले वह 1996 में सोनीपत लोकसभा क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्‍याशी के रूप में चुनाव जीते।

भाजपा में शामिल होने के बाद शर्मा ने कहा कि उनके लिये सवाल यह नहीं था कि किस पार्टी में शामिल होना है। पिछले दो-ढाई वर्षों में उन्होंने इस सरकार का कामकाज देखा है कि यह कैसे काम करती है। उन्होंने कहा कि दूसरी ओर विपक्ष एयर स्ट्राइक पर सवाल उठा रहा है। इन सभी स्थितियों पर विचार करने के बाद मैंने भाजपा में शामिल होने का निर्णय किया।

इससे पहले भी बीजेपी में कुछ बड़े नेता हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए हैं। तीन प्रमुख नेता अलग-अलग दलों के हैं। ये तीन दल तृणमूल कांग्रेस, कांग्रेस और बीजू जनता दल हैं। पश्चिम बंगाल की भाटापारा सीट से तृणमूल कांग्रेस विधायक अर्जुन सिंह बीजेपी में शामिल हो गए।

चार बार से विधायक सिंह के भाजपा में शामिल होने से पार्टी को आम चुनावों में पश्चिम बंगाल में काफी लाभ मिलने की संभावना है। भाटपारा से तृणमूल कांग्रेस विधायक अर्जुन सिंह भाजपा मुख्यालय में पार्टी के पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय और वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हुए।

 

वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता टॉम वडक्कन बीजेपी में शामिल हो गए। टॉम वडक्कन केरल के त्रिशूर जिले से आते हैं। वडक्कन पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निजी सहायक रहे हैं। राहुल गांधी के पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद भी वह उनके करीबी माने जाते हैं।  वहीं बीजेडी के पूर्व नेता व विधायक दामोदर राउत ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। राउत ने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और ओडिशा के बीजेपी प्रभारी अर्जुन सिंह की उपस्थिति में बीजेपी ज्वॉइन किया है।