मध्य प्रदेश में ‘श्रम सिद्धि अभियान’ में सभी मजदूरों को मिलेगा काम

Written by: May 22, 2020 9:43 pm

भोपाल। मध्य प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में हर मजदूर को काम मिलेगा। इसके लिए राज्य सरकार ने श्रम सिद्धि अभियान की शुरुआत की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने वीडियो कांफ्रें सिंग के जरिए सरंपचों और मजदूरों से संवाद किया, साथ ही उन्हें रोजगार दिलाने वाले अभियान की विस्तार से जानकारी की।

 

मुख्यमंत्री चौहान ने शुक्रवार को मजदूरों और सरपंचों से चर्चा करते हुए कहा श्रमसिद्धि अभियान के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों के सभी मजदूरों को काम मिलेगा, ऐसे मजदूर जिनके जॉब कार्ड नहीं है, उनके जॉब कार्ड बनवाकर, प्रत्येक मजदूर को काम दिलाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने बताया कि कोरोना संकट के दौरान शासन द्वारा निरंतर प्रदेश के मजदूरों, किसानों, गरीबों आदि की निरंतर सहायता की गई। मजदूरों को उनके खातों में राशि भिजवाई गई, बच्चों को छात्रवृत्ति की राशि, सामाजिक सुरक्षा पेंशन हितग्राहियों को दो माह की अग्रिम पेंशन, सहरिया, बैगा, भारिया जनजाति की बहनों को राशि, प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों, मध्यान्ह भोजन के रसाइयों आदि को राशि उनके खातों में अंतरित की गई। किसानों को फसल बीमा की राशि, शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण तथा गेहूं उपार्जन की राशि उनके खातों में भिजवाई गई।

Migrant Workers Majdoor
मुख्यमंत्री ने सरपंचों से कहा कि वे अपने गांव को कोरोना से सुरक्षित रखें। सभी लोग मास्क लगाएं, एक-दूसरे के बीच कम से कम दो गज की दूरी रखें, बार-बार हाथ धोएं, स्वच्छता रखें तथा कहीं भी भीड़ न लगाएं। बाहर से आए मजदूरों के साथ मानवीयता का व्यवहार करें। उनका अनिवार्य रूप से स्वास्थ्य परीक्षण हो तथा 14 दिन के लिए उन्हें क्वारंटाइन में रखा जाए।


मुख्यमंत्री ने सरपंचों को बताया कि शासन द्वारा प्रत्येक ग्राम में पहले तीन माह का उचित मूल्य राशन दिया गया था। अब दो माह का नि:शुल्क राशन दिया गया है। यह राशन राशन कार्डधारियों के अलावा उन्हें भी दिया जा रहा है, जिनके पास राशन कार्ड नहीं है। सरपंच यह सुनिश्चित करें कि पात्र व्यक्तियों तक यह राशन पहुंच जाए।