महाराष्ट्र: अजित पवार के बाद भाजपा ने छोड़ा मैदान, फडणवीस ने सीएम पद से दिया इस्तीफा

पहले जहां डिप्टी सीएम पद से अजित पवार ने इस्तीफा दिया था। तो अब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी अपने पास बहुमत नहीं होने का दावा करते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

Written by: November 26, 2019 3:46 pm

नई दिल्ली। शनिवार को अचानक शपथ ग्रहण करने के बाद भाजपा और अजित पवार के पास बहुमत साबित करने का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा था। इसके बाद शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी ने अपने पास बहुमत होने का दावा के साथ सुप्रीम कोर्ट पहुंची थी। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को फ्लोर टेस्ट का फैसला सुनाया है।

Devendra Fadnavis

पहले जहां डिप्टी सीएम पद से अजित पवार ने इस्तीफा दिया था। तो अब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी अपने पास बहुमत नहीं होने की बात करते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने शिवसेना-बीजेपी को बहुमत दिया था लेकिन शिवसेना ने नतीजों के बाद अपना रुख बदल लिया। हमने कभी भी ढाई-ढाई साल के फॉर्मूले का वादा नहीं किया था, अमित शाह ने साफ किया था कि मुख्यमंत्री बीजेपी का ही होगा। सीटें देख कर शिवसेना ने अपना रुख बदल लिया था, हमसे बात करने की बजाय उन्होंने कांग्रेस-एनसीपी से बात की।

fadanvis

देवेंद्र फडणवीस बोले कि अजित पवार ने कहा कि सरकार बनाने के लिए हम आपका साथ देंगे, ताकि स्थाई सरकार बन सके। लेकिन जब बहुमत साबित करने की बात आई तो अजित पवार ने मुझसे मिलकर कहा मैं गठबंधन जारी नहीं रख सकता और अलग होने की बात कही। उन्होंने कहा कि अब हमारे पास बहुमत नहीं है।

देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे का ऐलान कर दिया है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि हमारे पास बहुमत नहीं है और मैं राज्यपाल को इस्तीफा देने जा रहा हूं।

शिवसेना पर किया तीखा वार

BJP Shivsena

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि हमें उम्मीद है कि नई सरकार अच्छा काम करेगी। हम विपक्ष के रूप में अपना काम करेंगे। उन्होंने कहा कि शिवसेना नेता लाचारी में सोनिया गांधी के सामने नतमस्तक हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि तीन पहियों वाली सरकार चलना काफी मुश्किल है।