महाराष्ट्र में फ्लोर टेस्ट से पहले कांग्रेस-NCP ने बढ़ाई उद्धव सरकार की मुश्किलें

महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में बनी सरकार की मुश्किलें हर गुजरते दिन के साथ बढ़ रही है। शनिवार को बहुमत साबित करने से पहले डिप्टी सीएम और स्पीकर के पद को लेकर कांग्रेस-एनसीपी में रस्साकशी शुरू हो गई है।

Written by: November 30, 2019 12:33 pm

मुंबई। महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में बनी सरकार की मुश्किलें हर गुजरते दिन के साथ बढ़ रही है। शनिवार को बहुमत साबित करने से पहले डिप्टी सीएम और स्पीकर के पद को लेकर कांग्रेस-एनसीपी में रस्साकशी शुरू हो गई है। बता दें कि शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास आघाड़ी सरकार आज महाराष्ट्र विधानसभा में विश्वास मत साबित करेगी। तो वहीं इससे पहले ही कांग्रेस रोड़ा बनकर इनके रास्ते में आ चुकी है।

Congress, NCP &  Shiv Sena

सूत्रों के मुताबिक डिप्टी सीएम और स्पीकर को लेकर कांग्रेस और एनसीपी आमने-सामने आ गई है। कांग्रेस-एनसीपी दोनों ही पार्टियां स्पीकर का पद नहीं छोड़ना चाहती थीं। यानी कि अब एनसीपी और कांग्रेस के बीच मनमुटाव शुरू हो गया है। कांग्रेस ने एनसीपी के सामने स्पीकर की पोस्ट छोड़ने के बदले दो डिप्टी सीएम के पदों का रखा प्रस्ताव। सूत्रों के मुताबिक एनसीपी इस प्रस्ताव पर राजी नहीं है।

Uddhav Thackeray

उद्धव सरकार को साबित करना है बहुमत

उद्धव सरकार को महाराष्ट्र की कुल 288 विधानसभा सीटों में से बहुमत के लिए 145 सीटें चाहिए। महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार में शिवसेना के 56, एनसीपी के 54 और कांग्रेस के 44 विधायक शामिल हैं। शिवसेना कुछ निर्दलीय और क्षेत्रीय दलों के विधायकों के समर्थन का भी दावा कर रही है।