शिंदे के बयान से भड़के माजिद मेमन, कहा- कांग्रेस कर ले NCP में विलय

माजिद मेमन ने कहा कि शरद पवार अपना अस्तित्व बिल्कुल नहीं खोना चाहते हैं। अगर कांग्रेस एनसीपी में अपना विलय करना चाहती है तो कर सकती है।

Avatar Written by: October 9, 2019 1:17 pm

नई दिल्ली। यूपीए सरकार के दौरान गृहमंत्री रहे और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे ने पिछले दिनों बयान दिया था कि, शरद पवार की पार्टी राष्ट्रीवादी कांग्रेस पार्टी का विलय कांग्रेस में होने वाला है। अब उनके इस बयान के बाद महाराष्ट्र की राजनीति काफी ज्यादा गर्मा गई है और एनसीपी के वरिष्ठ नेता माजिद मेमन ने शिंदे के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, उनको ऐसा बयान नहीं देना चाहिए।

memon

माजिद मेमन ने कहा कि सुशील कुमार शिंदे वरिष्ठ और सुलझे हुए नेता हैं। लेकिन, उनका यह बयान गलत है कि एनसीपी का कांग्रेस में विलय होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि एनसीपी का कांग्रेस में विलय नहीं हो रहा है। माजिद मेमन ने कहा कि शरद पवार अपना अस्तित्व बिल्कुल नहीं खोना चाहते हैं। अगर कांग्रेस एनसीपी में अपना विलय करना चाहती है तो कर सकती है। माजिद मेमन ने कहा एनसीपी का विलय कांग्रेस में किसी कीमत पर नहीं होगा।

maharashtra

सुशील शिंदे के बयान पर शिवसेना प्रवक्ता मनीषा कायंडे ने कहा है कि उनके स्‍टेटमेंट से कांग्रेस की निराशा झलक रही है। उन्होंने कहा कि दो राज्यों में विधानसभा चुनाव है और राहुल गांधी कहीं नजर ही नहीं आ रहे हैं। शिवसेना-बीजेपी सरकार ने जिस तरह का काम किया है, उससे कांग्रेस को अपनी हार साफ तौर पर दिखने लगी है। कांग्रेस-एनसीपी का विलय होता है तो भी शिवसेना को कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है।

शिंदे के इस बयान से मची हलचल

Sushil Kumar Shinde

बता दें कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने मंगलवार को कहा था कि उनकी पार्टी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ‘भविष्य में साथ आएंगे।’ पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि वह और राकांपा अध्यक्ष शरद पवार एक ही पेड़ के नीचे (कांग्रेस में ही) बड़े हुए हैं, हालांकि पवार खुलेआम इस पर बात नहीं करते हैं।

सार्वजनिक सभा में बोल रहे थे शिंदे

शिंदे ने बिना ब्‍योरा देते हुए कहा था, ‘भले ही कांग्रेस और राकांपा दो अलग-अलग पार्टियां हैं, लेकिन आज मैं आपको यह कहना चाहूंगा कि भविष्य में हम एक-दूसरे के करीब आएंगे, क्योंकि अब शरद पवार भी थक गए हैं और हम भी थक गए हैं।’ सुशील कुमार शिंदे पश्चिमी महाराष्ट्र में अपने गृह जिले सोलापुर में एक सार्वजनिक सभा में बोल रहे थे।

‘सिर्फ साढ़े आठ महीने छोटे हैं’

शिंदे ने खुद के और पवार के बारे में कहा कि वह राकांपा नेता से सिर्फ साढ़े आठ महीने छोटे हैं और एक ही पेड़ के नीचे बड़े हुए हैं। इंदिरा गांधी और यशवंतराव चव्हाण के नेतृत्व में आगे बढ़े हैं। उन्होंने कहा, ‘इसलिए हमारे दिल और उनके दिल में भी अफसोस है, एक ही भावना है…बस इतना फर्क है कि वह (पवार) इसके बारे में बोलते नहीं हैं, लेकिन समय आएगा जब वह इस बारे में बात करेंगे।’ पवार ने मई 1999 में कांग्रेस छोड़ दी थी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की स्थापना की थी।