मन की बात: PM मोदी ने बताया अमरनाथ यात्रा से लौटे भक्त क्यों हो जाते हैं जम्मू-कश्मीर के लोगों के कायल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के विद्यार्थियों के लिए दिलचस्प प्रतियोगिता के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि क्विज कॉम्पीटिशन के जरिए सबसे ज्यादा नंबर पाने वाले बच्चों को 7 सितंबर को श्रीहरिकोटा ले जाया जाएगा और चंद्रयान 2 की लैडिंग देखने का मौका मिलेगा।

Written by: July 28, 2019 12:13 pm

नई दिल्ली। 28 जुलाई(रविवार) को मन की बात करते हुए पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के लोगों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि अमरनाथ यात्रा से वापस आने वाले जम्मू-कश्मीर के लोगों की गर्मजोशी और अपनेपन की भावना को देखकर उनके कायल हो जाते हैं।

उन्होंने कहा कि जो लोग भी यात्रा से लौटकर आते हैं, वे जम्मू-कश्मीर के लोगों की गर्मजोशी और अपनेपन की भावना के कायल हो जाते हैं। बता दें कि मन की बात में पीएम मोदी ने अमरनाथ यात्रा की सफलता के लिए जम्मू-कश्मीर के लोगों की प्रशंसा करते हुए कहा कि कश्मीर के लोग अमरनाथ यात्रियों की सेवा और मदद करते हैं। इस बार अमरनाथ यात्रा में पिछले चार सालों में सबसे ज्यादा श्रद्धालु शामिल हुए हैं।कश्मीर के लोगों में विकास की मुख्यधारा से जुड़ने के लिए काफी उत्साही है।

इसके अलावा देश में पानी किल्लतों पर पीएम ने कहा कि, पानी के विषय ने इन दिनों हिन्दुस्तान के दिलों को झकझोर दिया है। सरकार और एनजोओ जलसंरक्षण के लिए युद्ध स्तर पर कुछ-ना-कुछ कर रहे हैं। इसका शानदार उदहारण झारखंड का आरा केरम गांव है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार जलनीति के लिए काम कर रही है।

देश में इकलौते अपनी जल-नीति तैयार करने वाले राज्य मेघालय की तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने राज्य सरकार को बधाई दी। पीएम मोदी ने कहा कि हरियाणा में उन फसलों की खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है, जिनमें कम पानी की जरुरत होती है और किसान का भी कोई नुकसान नहीं होता है।

man ki bat

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के विद्यार्थियों के लिए दिलचस्प प्रतियोगिता के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि क्विज कॉम्पीटिशन के जरिए सबसे ज्यादा नंबर पाने वाले बच्चों को 7 सितंबर को श्रीहरिकोटा ले जाया जाएगा और चंद्रयान 2 की लैडिंग देखने का मौका मिलेगा।

chandrayan 1

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, जीवन में भी मुश्किलों को पार करने की हिम्मत होती है। आसमान के पार और अंतरिक्ष में भारत की सफलता गर्व का प्रतीक है। चंद्रयान-2 पर पीएम मोदी ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि आपको आसमान के भी पार, अंतरिक्ष में, भारत की सफलता के बारे में जानकर जरूर गर्व हुआ होगा। चंद्रयान 2 मिशन ने एक बार फिर यह साबित किया है कि जब बात नए-नए क्षेत्र में कुछ नया कर गुजरने की हो तो हमारे वैज्ञानिक सर्वश्रेष्ठ हैं, विश्व-स्तरीय हैं। हमें याद रखना चाहिए कि जीवन में भी मुश्किलों को पार करने का सामर्थ्य हमारे भीतर ही है।