नागरिकता कानून के समर्थन में नागपुर में ऐसे निकली तिरंगा यात्रा, सड़क पर उतरे हजारों लोग

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश के कई हिस्सों में जहां विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं, वहीं दूसरी ओर तमाम संगठन लगातार विधेयक के समर्थन में भी प्रदर्शन कर रहे हैं।

Avatar Written by: December 22, 2019 6:02 pm

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश के कई हिस्सों में जहां विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं, वहीं दूसरी ओर तमाम संगठन लगातार विधेयक के समर्थन में भी प्रदर्शन कर रहे हैं। नागरिकता कानून के समर्थन में दिल्ली में हुए प्रदर्शन के बाद रविवार को महाराष्ट्र में भी लोगों ने एक विशाल तिरंगा यात्रा निकालकर बिल का समर्थन किया।Nagpur CAA NRC Support Rally महाराष्ट्र के नागपुर में रविवार को नागरिकता कानून के समर्थन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, भारतीय जनता पार्टी और लोक अधिकार मंच के कार्यकर्ताओं ने एक विशाल तिरंगा यात्रा निकाली। इस रैली में हजारों लोगों ने सड़क पर उतरकर नागरिकता कानून का समर्थन किया और सरकार के फैसले का स्वागत भी किया।Nagpur CAA NRC Support Rally

संघ के नागपुर महानगर संघचालक राजेश लोया के नेतृत्व में यशवंत स्टेडियम में शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया जा रहा है। वहीं, मुंबई और बेंगलुरु में भी नागरिकता कानून के समर्थन में लोगों की भारी भीड़ जुटी है और लोग शांतिपूर्ण प्रदर्शन में हिस्सा ले रहे हैं। नागरिकता कानून का समर्थन बीजेपी, संघ और लोक अधिकार मंच समेत कई और संगठन भी कर रहे हैं।


इससे पहले शनिवार को देशभर के 1100 शिक्षाविदों, बुद्धिजीवियों और वैज्ञानिकों ने पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से धर्म के आधार पर प्रताड़ित होकर आए गैर मुस्लिम शरणार्थियों को नागरिकता देने वाले कानून का समर्थन किया है। इन्होंने नए कानून को जायज ठहराते हुए एक बयान जारी किया है। 1100 हस्ताक्षर के साथ बयान में भारतीय संसद और सरकार को बधाई दी गई है।


उन्होंने इस बात पर भी संतुष्टि जाहिर की है कि उत्तर-पूर्व के लोगों की चिंताओं को सुना गया और उन्हें संबोधित किया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘हम मानते हैं कि CAA भारत के सेक्युलर संविधान के अनुरूप ही है, क्योंकि यह किसी धर्म के किसी व्यक्ति को नागरिकता के लिए अपील से नहीं रोकता है।’ समर्थन करने वालों में दिल्ली यूनिवर्सिटी, जेएनयू, इगनू, कई आईआईटी और दुनिया के कई बड़े संस्थानों में पढ़ाने वाले भारतीय भी शामिल हैं।