एग्जिट पोल देख बौखलाई मायावती ने लिया बड़ा एक्शन, करीबी नेता को पार्टी से बाहर किया

एग्जिट पोल्स में NDA को बहुमत मिलने की बात सामने आ रही है ऐसे में इसका असर विरोधी दलों पर दिखाई दे रहा है। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमों मायावती ने एग्जिट पोल आने के बाद ही पार्टी को लेकर बड़ा कदम उठा लिया है।

Written by: May 21, 2019 11:06 am

लखनऊ। एग्जिट पोल्स में NDA को बहुमत मिलने की बात सामने आ रही है, ऐसे में इसका असर विरोधी दलों पर दिखाई दे रहा है। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने एग्जिट पोल आने के बाद ही पार्टी को लेकर बड़ा कदम उठा लिया है।

mayawati

मायावती का बड़ा कदम

बता दें कि मायावती ने पार्टी के सचेतक पद पर रहे विधायक रामवीर उपाध्याय को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। रामवीर उपाध्याय पार्टी के पुराने सिपाहसलारों में शामिल थे। उन्हें बाहर करने के साथ-साथ पार्टी के सचेतक पद से भी हटा दिया है।

रामवीर उपाध्याय पर आरोप

रामवीर उपाध्याय पर आरोप है कि वो पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल थे। इसको लेकर पार्टी महासचिव मेवालाल गौतम ने कहा कि “रामवीर उपाध्याय लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी विरोधि गतिविधियों में शामिल थे। उन्हें हिदायत दी गई थी, लेकिन रामवीर ने आगरा, फतेहपुर सीकरी, अलीगढ़ समेत कई सीटों पर खड़े किए गए पार्टी प्रत्याशियों का खुलकर विरोध किया और विरोधी पार्टी के प्रत्याशियों का समर्थन किया।”

मेवालाल गौतम ने कहा कि ‘रामवीर ने बताया कि रामवीर को तत्काल पार्टी से निलंबित कर दिया गया है और विधानसभा में बसपा के मुख्य सचेतक पद से भी हटा दिया गया है।’

दरअसल बीते दिनों चर्चा तेज थी कि रामवीर उपाध्याय भाजपा में जा सकते हैं इसको लेकर बसपा उनपर नजर रख रही थी। रामवीर बसपा से विधायक हैं, ऐसे में अगर वो खुद बसपा छोड़ते तो उनकी विधायकी खतरे में आ जाती। फिलहाल अब पार्टी से निकाले जाने के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि रामवीर भाजपा में शामिल हो सकते हैं। बता दें कि रामवीर उपाध्याय के भाई मुकुल उपाध्याय भी पिछले साल बीजेपी में शामिल हुई थे।