मायावती ने केंद्र, दिल्ली सरकार की मिलीभगत से संत रविदास मंदिर गिराने का आरोप लगाया

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने दिल्ली के तुगलकाबाद में दिल्ली विकास प्राधिकरण द्वारा संत रविदास मंदिर ढहाने पर अपना विरोध जताया है। उन्होंने इसके लिए केन्द्र व दिल्ली सरकार की मिलीभगत का आरोप भी लगाया।

Written by: August 14, 2019 7:15 pm

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने दिल्ली के तुगलकाबाद में दिल्ली विकास प्राधिकरण द्वारा संत रविदास मंदिर ढहाने पर अपना विरोध जताया है। उन्होंने इसके लिए केन्द्र व दिल्ली सरकार की मिलीभगत का आरोप भी लगाया।

 

मायावती ने ट्वीट किया, “दिल्ली के तुगलकाबाद क्षेत्र में बना सन्त रविदास मन्दिर केन्द्र व दिल्ली सरकार की मिलीभगत से गिरवाए जाने का बीएसपी ने सख्त विरोध किया। इससे इनकी आज भी हमारे सन्तों के प्रति हीन व जातिवादी मानसिकता साफ झलकती है।”


उन्होंने एक और ट्वीट में लिखा, “बीएसपी की मांग है कि इस मामले में ये दोनों सरकारें कोई बीच का रास्ता निकाल के अब अपने खर्चे से ही, इनके मन्दिर का पुन: निर्माण करवाएं।”

गौरतलब है कि दिल्ली के तुगलकाबाद में शनिवार को दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने संत रविदास मंदिर ढहा दिया, जिसपर दिल्ली से लेकर पंजाब तक राजनीति गर्मा गई है। इस पर डीडीए की सफाई आई, जिसमें कहा गया है कि गुरु रविदास जयंती समारोह समिति ने जंगल की जमीन पर निर्माण किया था। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद जगह खाली नहीं किया गया। इसलिए नौ अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने डीडीए को आदेश दिया कि वह पुलिस की मदद से इस जगह को खाली कराए और ढांचे को हटाए।