आर्टिकल 370 को लेकर कांग्रेस पर ही भड़के दिग्विजय सिंह, कह डाली ये बड़ी बात

अक्सर अपने बयानों के कारण सुर्खियों में छाए रहने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने अब अपने पार्टी के नेताओं के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है। उनके निशाने पर आधे से ज्यादा कांग्रेसी हैं, जिनके बारे में उन्होंने कहा है कि वे नहीं जानते की आर्टिकल-370 है क्या?

Written by: November 15, 2019 10:00 am

नई दिल्ली। अक्सर अपने बयानों के कारण सुर्खियों में छाए रहने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने अब अपने पार्टी के नेताओं के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है। उनके निशाने पर आधे से ज्यादा कांग्रेसी हैं, जिनके बारे में उन्होंने कहा है कि वे नहीं जानते की आर्टिकल-370 है क्या?

DIGVIJAY

दरअसल, कांग्रेस के कई बड़े नेताओं ने भी इस मामले में खुलकर मोदी सरकार की तारीफ की थी और उसका समर्थन किया था। लेकिन, दिग्विजय सिंह को ये बात अच्छी नहीं लगी है और गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की जयंती के मौके पर उन्होंने इन दिग्गज कांग्रेसियों के खिलाफ ही जमकर भड़ास निकाली है।

digvijaya singh

दिग्विजय सिंह ने अब आर्टिकल-370 का समर्थन करने वाले कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है। वरिष्ठ कांग्रेसी ने कहा है कि उनकी पार्टी के ज्यादातर लोगों को इसके बारे में कुछ पता ही नहीं है, लेकिन फिर भी उसका समर्थन कर रहे हैं।

दिग्विजय का कहना है कि कश्मीर हमारे हाथ से फिसल रहा है। यदि हम कश्मीर चाहते हैं तो कश्मीरियों को साथ लेना होगा। बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री के प्रतिद्वंद्वी माने जाने वाले मध्यप्रदेश के ही दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने केंद्र सरकार के फैसले का समर्थन किया था।

digvijay singh scindia

जानिए दिग्विजय के निशाने पर कौन कांग्रेसी ?

आधे कांग्रेसियों में दिग्विजय के निशाने पर कौन हैं वे तो वे ही जानें। लेकिन, पार्टी में उनके विरोधी खेमे के माने जाने वाले कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया उन पहले कांग्रेसियों में से हैं, जिन्होंने मोदी सरकार के आर्टिकल 370 हटाने के फैसले का खुलकर समर्थन किया है। इसके अलावा देश के कई इलाकों में कई बड़े कांग्रेसी नेताओं ने इस मसले पर सरकार का समर्थन किया है। इन नेताओं में पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी और महासचिव जनार्दन द्विवेदी, हरियाणा के दीपेंद्र सिंह हुड्डा, मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और राहुल गांधी के करीबी मिलिंद देवड़ा जैसे नाम भी शामिल हैं। इन सबके अलावा पूर्व पीएम मनमोहन सिंह भी कह चुके हैं कि संसद में बिल का समर्थन किया था, सिर्फ इसे हटाने के तरीके का विरोध हुआ था।