विपक्ष साबित नहीं कर सका कि बाबर ने बनवाई थी मस्जिद, हिंदू पक्ष की बड़ी दलील

अयोध्या मामले में आज सुनवाई का अंतिम दिन है। हिंदू पक्ष ने अपनी दलील देते हुए बाबरी मस्जिद की स्थापना के तौर तरीकों पर सवाल खड़े कर दिए। हिंदू पक्ष ने कहा कि इस बात का कोई भी सबूत नहीं है कि मस्जिद खाली जमीन पर बनाई गई। न ही यह साबित हो सका कि इसे बाबर ने बनवाया था।

Written by: October 16, 2019 12:30 pm

नई दिल्ली। अयोध्या मामले में आज सुनवाई का अंतिम दिन है। हिंदू पक्ष ने अपनी दलील देते हुए बाबरी मस्जिद की स्थापना के तौर तरीकों पर सवाल खड़े कर दिए। हिंदू पक्ष ने कहा कि इस बात का कोई भी सबूत नहीं है कि मस्जिद खाली जमीन पर बनाई गई। न ही यह साबित हो सका कि इसे बाबर ने बनवाया था।

हिंदू पक्ष के वकील सीएस वैद्यनाथन ने कहा कि जन्म स्थान का कब्जा हिन्दुओं के पास है। मुस्लिम कब्जा साबित नहीं कर सके। किसी अन्य धर्म के साथ मस्जिद का बंटवारा नहीं किया जा सकता। अगर बाबर ने मस्जिद बनवाई तो यह भी मुस्लिम पक्ष साबित नहीं कर सका।

Supreme Court

हिंदू पक्ष की ओर से वैद्यनाथन ने कहा कि सुन्नी वक्फ बोर्ड ने सूट नम्बर 4 हिन्दुओं के रामजन्म भूमि पर कब्जे के खिलाफ दाखिल किया पर वे हाईकोर्ट में भी अपना दावा साबित नहीं कर सके। मुस्लिम पक्षकारों की विवादित जमीन के कब्जे को लेकर दी दलीलें स्पष्ट नहीं हैं। इस बात का भी कोई प्रमाण नहीं है कि मस्जिद को खाली भूमि पर बनाया गया था।

वैद्यनाथन के मुताबिक कुछ सबूत हैं कि मुस्लिम पक्ष ने 1857 से 1934 तक विवादित स्थल पर शुक्रवार की नमाज अदा की। जबकि हिंदू पक्ष ने पूजा करना जारी रखा। हम जन्मस्थान पर विश्वास नहीं करेंगे तो फिर हम कहां और क्यों विश्वास करेंगे? हमारा कब्जा केवल हमारे दावे को पुष्ट करता है।